अंगदान करने वाले के परिवार को पांच साल का स्वास्थ्य बीमा

इंदौर (IDS-PRO) राजस्व संभाग, इंदौर के कमिश्नर श्री संजय दुबे की अध्यक्षता में आज कमिश्नर कार्यालय सभाकक्ष में इंदौर सोसायटी फॉर ऑर्गन आर्गन डोनेशन के तत्वावधान में अंगदान के संबंध में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में कमिश्नर श्री दुबे ने कहा कि जिले के सभी अस्पताल अंगदानके लिये प्रेरित करने के लिये अपने-अपने सलाहकार (कौंसलर) नियुक्त करें तथा एक दूसरे अस्पताल से समन्वय बनाए रखें। उन्होंने बैठक में बताया कि सभी अस्पताल यह व्यवस्था सुनिश्चित करें कि अंगदान दाता सेे किसी भी प्रकार का परीक्षण शुल्क न लिया जाए तथा अंगदाता के परिवार को पांच साल तक स्वास्थ्य बीमा का लाभ दिया जाए। देश में इस प्रकार की सुविधा मात्र इंदौर में दी जा हरी है। बैठक में मेडिकल कालेज की अधीष्ठाता डॉ.उल्का श्रीवास्तव, इदौर सोसायटी फार आर्गन डोनेशन के कोषाध्यक्ष श्री विष्णु अग्रवाल के अलावा अपोलो अस्पताल, सिनर्जी अस्पताल, बाम्बे अस्पताल, टी चौईथराम अस्पताल, अरविंदो अस्पताल आदि के प्रतिनिधि भी मौजूद थे।

कमिश्नर श्री दुबे ने कहा कि अंगदान करने वालों का पूरा ब्यौरा इंदौर सोसायटी फॉर ऑर्गन डोनेशन की वेबसाइट पर उपलब्ध होना चाहिए, जिससे यह पता चलेगा कि किस व्यक्ति ने देहदान किया और किस व्यक्ति को अंगदान किया गया। उन्होंने बैठक में बताया कि अंगदान का लाइसेंस जारी करने का अधिकार महात्मा गांधी मेमोरियल कालेज के अधीष्ठाता डॉ.उल्का श्रीवास्तव को शासन द्वारा दिया गया है। उन्होंने बैठक में बताया कि मुख्य रूप से मरीजों को गुर्दा, ऑख और त्वचा की जरूरत पड़ती है। अंग प्रत्यारोपण करने वाले अस्पताल में न्यूरो सर्जन, निश्चेतना विशेषज्ञ आदि का होना जरूरी है। उन्होंने अपेक्षा की कि इंदौर में यथाशीघ्र अस्थिमज्जा प्रत्यारोपण (बोन मैरो ट्रांसप्लांटेशन) की सुविधा उपलब्ध हो जाएगी। उन्होंने कहा समाज में ऐसे अनेक लोग हैं, जो स्वेच्छा से आँख, किडनी या पूरा शरीर दान करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि जिले के सभी अस्पतालों में अंगदान प्रेरित करने के लिय पैम्पलेट और बैनर लगाये जायेंगे। उन्होंने बैठक में बताया कि इंदौर देश का पहला शहर है, जिसे एक वर्ष में 34 शरीर दान में मिले हैं, जिसे एम.जी.एम. मेडिकल कालेज के माध्यम से उपयोग में लाया जा रहा है। इसी प्रकार इंदौर नेत्रदान और नेत्र प्रत्यारोपण में भी देश में प्रथम स्थान रखता है।

बोन मैरो की जांच अब इंदौर अंगदान सोसायटी के माध्यम से होगी
जिले के सभी बड़े अस्पतालों को अंग प्रत्यारोपण के लायसेंस जारी किये जायेंगे
अंगदान करने वाले व्यक्ति के परिवार को पांच साल के स्वास्थ्य बीमा का लाभ मिलेगा

इंदौर अंगदान संस्थान
अंगदान, देहदान एवं नेत्रदान की इच्छा रखने वाले
सह्मदयी व्यक्ति एवं परिजन जानकारी एवं सहायता हेतु

सम्पर्क करें
– दधीचि मिशन : श्री एन.के.व्यास – 9993175407, 07312341443
– मुस्कान ग्रुप : श्री संदीपन आर्य – 9303259844, श्री जितेन्द्र बगानी-9424095555
– एम.के.आई.बैंक (नेत्रदान हेतु) : श्रीमती उमा झँवर – 07314075919, 9406631919
– एम.वाय.एम.अस्पताल : आकस्मिक चिकित्सा अधिकारी – 07312438200
– एमजीएम मेडिकल कालेज : डॉ.राजेन्द्र मार्कों – 9229588530, 07312527383
– अधिक जानकारी हेतु निम्न वेबसाइट पर लॉगइन करें।
Website – www.organdonationindore.org
Email id – organdonationindore@gmail.com

इंदौर (IDS-PRO) राजस्व संभाग, इंदौर के कमिश्नर श्री संजय दुबे की अध्यक्षता में आज कमिश्नर कार्यालय सभाकक्ष में इंदौर सोसायटी फॉर ऑर्गन आर्गन डोनेशन के तत्वावधान में अंगदान के संबंध में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में कमिश्नर श्री दुबे ने कहा कि जिले के सभी अस्पताल अंगदानके लिये प्रेरित करने के लिये अपने-अपने सलाहकार (कौंसलर) नियुक्त करें तथा एक दूसरे अस्पताल से समन्वय बनाए रखें। उन्होंने बैठक में बताया कि सभी अस्पताल यह व्यवस्था सुनिश्चित करें कि अंगदान दाता सेे किसी भी प्रकार का परीक्षण शुल्क न लिया जाए तथा अंगदाता के परिवार को पांच साल तक स्वास्थ्य बीमा का लाभ…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Translate »