आस्था का महाकुंभ 14 अप्रैल को महू में

इंदौर | प्रति वर्ष की तरह इस वर्ष भी डॉ.बाबा साहब अम्बेडकर की जयंती पर 14 अप्रैल को जन्मस्थली महू (अम्बेडकर नगर) में आम्बेडकर महाकुंभ लगेगा । इस महाकुंभ में राज्य शासन मेजबान बनकर श्रृद्धालुओं के लिये भोजन, ठहरने, शौचालय आदि की पर्याप्त व्यवस्था करेगा। इस आयोजन की तैयारियां प्रारंभ कर दी गयी हैं।

यह जानकारी आज यहां कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी द्वारा ली गयी आयोजन की तैयारियों संबंधी बैठक में दी गयी। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री आशीष सिंह, एसपी श्री आबिद खान सहित संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे। बैठक में कलेक्टर श्री त्रिपाठी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे इस आयोजन की गरिमा के अनुरूप तैयारियां निर्धारित समय सीमा में पूरी करें। बैठक में श्री त्रिपाठी ने अधिकारियों को आयोजन के विभिन्न दायित्व सौंपे।
बैठक में बताया गया कि प्रतिवर्ष की तरह इस वर्ष भी अम्बेडकर जयंती पर 14 अप्रैल को अम्बेडकर महाकुंभ आयोजित किया जायेगा। इसमें विभिन्न जिलों और प्रदेशों से लाखों श्रद्धालु शामिल होंगे। आयोजन के तहत एक मुख्य कार्यक्रम भी आयोजित किया जायेगा। इसके लिये विशाल पंडाल बनाया जायेगा। साथ ही महाकुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं के लिये ठहरने, खाने आदि की समुचित व्यवस्था की जायेगी। उन्हें परिवहन के विशेष साधन भी उपलब्ध कराये जायेंगे। श्रद्धालुओं के लिये भोजन की पुख्ता व्यवस्था की जायेगी। साथ ही आयोजन के दौरान महू में पेयजल के विभिन्न स्टॉल लगाये जायेंगे। भोजन के लिये 10 काउंटर बनाये जायेंगे। श्रद्धालुओं के लिये साढ़े पाँच सौ से अधिक शौचालय एवं स्नानागार बनाये जायेंगे। महू में अतिथियों के लिये दो हेलीपेड का निर्माण भी किया जायेगा।

समारोह के दौरान चिकित्सा की पर्याप्त व्यवस्था रहेगी। महू में सात मेडिकल टीम विभिन्न स्थानों पर तैनात की जायेगी। एक चलित चिकित्सा दल भी रहेगा। साथ ही 8 एम्बुलेंस विभिन्न स्थानों पर तैनात रहेंगी। समारोह में सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की जायेगी। फायर बिग्रेड भी तैनात किये जायेंगे। कलेक्टर श्री त्रिपाठी ने बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिये कि इस बार भी ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित करें, जिससे कि श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। महाकुंभ के दौरान बाबा साहेब अम्बेडकर की जन्मस्थली पर बने भव्य स्मारक पर आकर्षक विद्युत साज-सज्जा की जायेगी।

Review Overview

User Rating: Be the first one !

: यह भी पढ़े :

Anant Chaturdashi 2022

दो साल बाद अखाड़ों के साथ निकला झिलमिल झांकियों का कारवां

मुंबई के बाद प्रदेश में इंदौर ही ऐसा इकलौता शहर है, जहां गणेश उत्सव को …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »