उद्योग के लिये अनुकूल वातावरण निर्मित किया जायेगा – उद्योग मंत्री

इंदौर | वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया की अध्यक्षता में आज होटल रेडिसन में मालवा क्षेत्र में औद्योगिक विकास के लिये अनुकूल वातावरण निर्मित करने के लिये औद्योगिक संगठनों के साथ उच्च स्तरीय बैठक संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता करते हुए उद्योग मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा कि प्रदेश को “इंडस्ट्रियल फ्रेंडली स्टेट” के रूप में विकसित किया जायेगा। इस कार्य में थोड़ा समय लग सकता है। उन्होंने कहा कि आज इस बैठक में औद्योगिक संगठनों द्वारा विभिन्न मांगें रखी गई, जिनमें से अधिकांश मांगें मान ली गई है।
श्रीमती सिंधिया ने कहा कि राज्य शासन की मंशा है कि प्रदेश में औद्योगिक विकास का अनुकूल अवसर विकसित किया जाये। प्रदेश की उच्च स्तरीय कमेटी प्रदेश के औद्योगिक क्षेत्रों का दौरा कर औद्योगिक विकास तेज करने के लिये हर संभव प्रयास करेगी। उसी कड़ी के प्रथम चरण में इन्दौर संभाग में औद्योगिक विकास की संभावनाओं का पता लगाने के लिए उच्च स्तरीय कमेटी दौरा कर रही है तथा औद्योगिक संगठनों से रुबरु चर्चा करके उनकी समस्याओं का मौके पर ही समाधान करने का प्रयास किया जा रहा है। श्रीमती सिंधिया ने बैठक में औद्योगिक संगठनों के प्रतिनिधियों और वरिष्ठ अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि पालदा, सांवेर रोड, पीथमपुर, मेघनगर आदि क्षेत्रों में उद्योगों को मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराई जायेगी। इन क्षेत्रों में प्रकाश व्यवस्था और साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जायेगा। व्यापारियों को करों में राहत और उद्योग लगाने के लिए नियमानुसार आर्थिक सहायता और संरक्षण दिया जायेगा। निजी औद्योगिक क्षेत्र पालदा में भी मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराई जायेगी। इन्दौर के सांवेर रोड औद्योगिक क्षेत्र में फायर ब्रिागेड, साफ-सफाई और विद्युत व्यवस्था सुदृढ़ की जायेगी। श्रीमती सिंधिया ने कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी को निर्देशित किया कि वे औद्योगिक क्षेत्र सांवेर में विशेष मुहिम चलाकर अतिक्रमण हटायें। उन्होंने विद्युत विभाग के अधीक्षक यंत्री श्री ए.डब्ल्यू. खान को निर्देशित किया कि उद्योगपतियों की विद्युत संबंधी समस्याओं का समयसीमा में निराकरण सुनिश्चित करें। उन्होंने आयुक्त नगर निगम इन्दौर श्री राकेश सिंह को निर्देशित किया कि वे कार्ययोजना तैयार कर सांवेर रोड औद्योगिक क्षेत्र में साफ-सफाई और प्रकाश व्यवस्था सुनिश्चित करें।

श्रीमती सिंधिया ने इस अवसर पर कहा कि औद्योगिक संगठनों की मांगों पर उदारतापूर्वक विचार किया जायेगा तथा उद्योगों को मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराई जायेंगी। राज्य शासन उद्योगों के लिए अनुकूल वातावरण निर्मित करने के लिए कृत संकल्पित है। प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ प्रदेश के अन्य औद्योगिक क्षेत्रों का दौरा कर उद्योगपतियों की समस्याओं का मौके पर ही समाधान किया जायेगा।

प्रदेश की औद्योगिक राजधानी इन्दौर में उद्योग स्थापना की सर्वाधिक संभावनाएं है। इस जिले को हम औद्योगिक रीढ़ भी कह सकते हैं। उद्योग विभाग, उद्योगपतियों और राज्य शासन के बीच मित्रतापूर्ण वातावरण निर्मित करने के लिए कृत संकल्पित है।

उन्होंने कहा कि इन्दौर के सांवेर रोड औद्योगिक क्षेत्र में नमकीन और लोहा उद्योग सेक्टर को और अधिक सुदृढ़ बनाया जायेगा। औद्योगिक क्षेत्र की समस्याओं के समाधान के लिए सभी विभागों के बीच समन्वय स्थापित किया जायेगा। शासन और उद्योगपतियों के बीच संवाद से ही समाधान ढूंढा जायेगा। प्रदेश में औद्योगिक स्थापना के लिए बदलाव की मुहिम शुरू हो चुकी है, इसे और आगे बढ़ाना है। पिछले आठ वर्षों में प्रदेश में उद्योग की स्थापना के लिए अनुकूल वातावरण निर्मित हुआ है।

इस अवसर पर औद्योगिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने नगर पालिका पीथमपुर क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने, फायर ब्रिागेड सिस्टम को मजबूत करने के लिए फायर टैंकर उपलब्ध कराने, कर्मचारी राज्य बीमा अस्पताल खोलने, एक थाना, दो पुलिस चौकी और खोलने की मांग की। मेघनगर औद्योगिक संगठन के प्रतिनिधियों ने औद्योगिक क्षेत्र में सुरक्षा बढ़ाने, रात को पुलिस गश्त सुनिश्चित करने तथा रॉक फास्फेट की खदानों को चालू करने की मांग की। आयुर्वेदिक औद्योगिक संगठन के प्रतिनिधियों ने इन्दौर या पीथमपुर में आयुर्वेदिक दवा उत्पादन कंपनी स्थापित करने के लिए औद्योगिक क्षेत्र में जमीन उपलब्ध कराने की मांग की। इसी प्रकार इलेक्ट्रानिक सेक्टर के उद्योगपतियों ने विक्रय कर संबंधी समस्याएं हल करने की मांग की। सांवेर औद्योगिक क्षेत्र के प्रतिनिधियों ने एमआर-10 से सांवेर रोड औद्योगिक क्षेत्र तक 200 मीटर सड़क और बनाने की जिला प्रशासन से मांग की। पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र में श्रमिक संगठन ने पीथमपुर क्षेत्र में बिना पंजीयन के चल रहे श्रम संगठनों में प्रतिबंध लगाने की मांग की।

बैठक को प्रमुख सचिव उद्योग श्री मोहम्मद सुलेमान, आयुक्त उद्योग संचालनालय श्री कांताराव, संभागायुक्त श्री संजय दुबे, महाप्रबंधक लघु उद्योग निगम श्री अनुपम राजन, आयुक्त वाणिज्यकर श्री राघवेन्द्र सिंह, कलेक्टर इन्दौर श्री आकाश त्रिपाठी ने भी संबोधित किया तथा मालवा क्षेत्र में औद्योगिक विकास का वातावरण निर्मित करने का आश्वासन दिया। बैठक में महाप्रबंधक औद्योगिक केन्द्र विकास निगम इन्दौर श्री मनीष सिंह, अपर संचालक उद्योग संचालनालय भोपाल श्री अजय चौबे आदि अधिकारी मौजूद थे। बैठक में प्रदूषण निवारण मण्डल, उद्योग, लघु उद्योग, औद्योगिक केन्द्र विकास निगम, स्थानीय शासन, विद्युत मण्डल के अलावा औद्योगिक संगठनों के प्रतिनिधि भी मौजूद थे।

इंदौर | वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया की अध्यक्षता में आज होटल रेडिसन में मालवा क्षेत्र में औद्योगिक विकास के लिये अनुकूल वातावरण निर्मित करने के लिये औद्योगिक संगठनों के साथ उच्च स्तरीय बैठक संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता करते हुए उद्योग मंत्री श्रीमती सिंधिया ने कहा कि प्रदेश को “इंडस्ट्रियल फ्रेंडली स्टेट” के रूप में विकसित किया जायेगा। इस कार्य में थोड़ा समय लग सकता है। उन्होंने कहा कि आज इस बैठक में औद्योगिक संगठनों द्वारा विभिन्न मांगें रखी गई, जिनमें से अधिकांश मांगें मान ली गई है। श्रीमती सिंधिया ने कहा कि राज्य शासन की…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Translate »