खड़ी फसलों को पाले से बचाव हेतु कचरा जलाकर धुंआ करें

शिवपुरी (IDS-PRO) उपसंचालक किसान कल्याण एवं कृषि विकास शिवपुरी ने बताया कि रबी फसलों हेतु किसान भाई खड़ी फसलों में आवश्यकतानुसार सिंचाई करें तथा पाले से बचाव के लिए फसलों में नमी बनाएं रखें मेढ़ो पर सांयकाल में कचरा जलाकर धुंआ करें। तेजाब (गंधक का अम्ल) 1 मिली लीटर प्रति लीटर पानी का घोल बनाकर छिड़काव करें।

किसान भाई गेहूं की फसल में खरपतवार नियंत्रण हेतु 28 से 35 दिन की फसल होने व पर्याप्त नमी होने पर खरपतवारनाशी दवा का छिड़काव करें। राई सरसों की फसल में झुलसन व सफेद फफोला रोग दिखाई देने पर इसके नियंत्रण हेतु पहला छिड़काव 45 दिन की फसल पर मैन्कोजेब दवा 2.5 ग्राम प्रति लीटर पानी के हिसाब से घोल बनाकर छिड़काव करें। दूसरा छिड़काव 55 दिन की फसल होने पर रिडोमिल एम.जेड-72 दवा का 2 ग्राम प्रति लीटर पानी के हिसाब से घोल बनाकर छिड़काव करें।

उपसंचालक कृषि ने बताया कि चना फसल में कीट नियंत्रण हेतु अंग्रेजी के ‘‘टी’’ अक्षर आकार की 15 फीट ऊचीं 20 खुटीया प्रति एकड़ में लगाएं। इस समय मिर्च, टमाटर व बैंगन में फल छेदक व तना छेदक कीट की संभावना हो सकती है अतः इसके नियंत्रण हेतु डायमिथोएट एक मिली दवा प्रति लीटर पानी के हिसाब से घोल बनाकर छिड़काव करें। इस समय नींबू व आंवला फलन पर है तथा इस समय जीवाणु रोग की संभावना हो सकती है। इसके नियंत्रण हेतु बोर्डों मिक्चर एक प्रतिशत या विलीटाक्स-50 दवा दो मिली प्रति लीटर पानी के हिसाब से घोल बनाकर छिड़काव करें। आम में मिलीबग कीट गुजिया कीट के नियंत्रण हेतु थालो की गुड़ाई कर कीटनाशक क्लोरोपायरीफाॅस 200 ग्राम प्रति थाले के मान से मिलाए तथा पौधो के मुख्य तने पर एक फीट चैड़ी पाॅलीथीनसीट बांधकर किनारे पर ग्रीस लगाएं जिससे कीट वृक्ष के ऊपर नहीं चढ़ सकेगा। पशुओं को संतुलित आहार दें तथा पशुओं को ठण्ड से बचाने हेत दिन के समय धूप में बांधे व रात को पुआल आदि को फर्श पर विछावन में प्रयोग करें तथा अन्दर पशुशाला में बांधे।

शिवपुरी (IDS-PRO) उपसंचालक किसान कल्याण एवं कृषि विकास शिवपुरी ने बताया कि रबी फसलों हेतु किसान भाई खड़ी फसलों में आवश्यकतानुसार सिंचाई करें तथा पाले से बचाव के लिए फसलों में नमी बनाएं रखें मेढ़ो पर सांयकाल में कचरा जलाकर धुंआ करें। तेजाब (गंधक का अम्ल) 1 मिली लीटर प्रति लीटर पानी का घोल बनाकर छिड़काव करें। किसान भाई गेहूं की फसल में खरपतवार नियंत्रण हेतु 28 से 35 दिन की फसल होने व पर्याप्त नमी होने पर खरपतवारनाशी दवा का छिड़काव करें। राई सरसों की फसल में झुलसन व सफेद फफोला रोग दिखाई देने पर इसके नियंत्रण हेतु पहला…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Translate »