खान नदी के किनारे पर फूलों की खेती

इंदौर (पारस जैन) कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी की अध्यक्षता में आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में राष्ट्रीय उद्यानिकी मिशन के संबंध में बैठक सम्पन्न हुयी। बैठक की अध्यक्षता करते हुए कलेक्टर श्री त्रिपाठी ने उद्यान विभाग के मैदानी अमले से कहा कि जिले में फलों और फूलों की खेती को बढ़ावा दिया जाए। उन्होंने बताया कि सर्वेक्षण के उपरांत खान नदी के किनारे रिक्त 32 हेक्टेयर शासकीय भूमि को लीज पर देकर जिले में फूलों की खेती को बढ़ावा दिया जाएगा। योजना का उद्देश्य युवाओं को रोजगार मुहैया कराना है।

उन्होंने बताया कि जिले में पपीता और अनार के लिये अनुकूल मिट्टी और मौसम है। इन फलों की खेती को बढ़ावा दिया जाएगा। इसी प्रकार सब्जी उत्पादन, गेंदा और गुलाब के फूलों का उत्पादन, महू क्षेत्र में आलू की खेती को बढ़ावा दिया जाएगा। उन्नत नस्ल बीज और तकनीकी जानकारी उपलब्ध कराने की जिम्मेदारी उद्यानिकी विभाग की होगी। जिले में आधुनिकतकनीक के जरिये प्याज भण्डार गृह बनाये जायेंगे। उद्यान विभाग की गाइड लाइन के अनुसार ही प्याज भण्डार गृह बनाये जायेंगे। जिले में मसालों की खेती की भी व्यापक संभावनाएं हैं। बैठक में सहायक संचालक उद्यानिकी श्री जे.सी.कुशवाह सहित उद्यान विभाग के मैदानी अधिकारी और कर्मचारी बैठक में मौजूद थे।

इंदौर (पारस जैन) कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी की अध्यक्षता में आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में राष्ट्रीय उद्यानिकी मिशन के संबंध में बैठक सम्पन्न हुयी। बैठक की अध्यक्षता करते हुए कलेक्टर श्री त्रिपाठी ने उद्यान विभाग के मैदानी अमले से कहा कि जिले में फलों और फूलों की खेती को बढ़ावा दिया जाए। उन्होंने बताया कि सर्वेक्षण के उपरांत खान नदी के किनारे रिक्त 32 हेक्टेयर शासकीय भूमि को लीज पर देकर जिले में फूलों की खेती को बढ़ावा दिया जाएगा। योजना का उद्देश्य युवाओं को रोजगार मुहैया कराना है। उन्होंने बताया कि जिले में पपीता और अनार के लिये अनुकूल मिट्टी और…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Translate »