गूगल की एक और नई टेक्नोलॉजी

गूगल ने पिछले छह महीने में सात रोबोट कंपनियां खरीदी हैं। गूगल ने नए उत्पाद विकसित करने के लिए कर्मचारियों की भर्ती भी शुरु कर दी है। हालांकि गूगल ने अभी तक ये नहीं बताया है कि वो किस तरह के रोबोट विकसित करेगा। खबरों के अनुसार गूगल फ़िलहाल जिन रोबोट्स पर काम कर रहा है, उन्हें वो अभी बेचना नहीं चाहता। सूत्रों का कहना है कि गूगल सेल्फ़-ड्राइविंग कार में इस्तेमाल होने वाले रोबोट्स पर काम कर रहा है, ताकि सामानों की होम डिलीवरी में मदद मिल सके।

एडिनबर्ग विश्वविद्यालय के रोबोटिक लैब विभाग के निदेशक प्रोफ़ेसर सेतु विजयकुमार कहते हैं, “यह साफ़ है कि पर्सनल रोबोट और इससे जुड़ी अन्य तकनीकों के बाज़ार में उतरने के दिन बहुत करीब हैं।”

उन्होंने कहा, “अब तक रोबोट बनाने संबंधी तकनीक की दिशा में गति और सेंसिंग सिस्टम में काफ़ी तरक्की हुई है। अब मुख्यधारा की गूगल जैसी कंपनियां चुनौती के लिए तैयार हैं। इससे ताक़तवर सॉफ्टवेयर के एकीकरण, मानकीकरण और माड्युलर डिज़ाइन बनाने में तेज़ी आएगी।”

गूगल के एक प्रवक्ता ने बताया है कि एंड्रॉएड ऑपरेटिंग सिस्टम निर्माण के प्रमुख रह चुके एंडी रुबिन गूगल के नए प्रयास का नेतृत्व कर रहे हैं। एंडी कहते हैं, ‘इसे अमल में लाने के लिए गूगल की दस साल की योजना है।’ उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि रोबोटिक्स में काफ़ी संभावनाएं हैं।” वो कहते हैं, “हम हार्डवेयर बना रहे हैं, सॉफ़्टवेयर बना रहे हैं। हम ऐसे सिस्टम बना रहे हैं, ताकि एक टीम इस पूरी प्रक्रिया को क्रमबद्ध तरीके से समझ सके।”

गूगल ने पिछले छह महीने में सात रोबोट कंपनियां खरीदी हैं। गूगल ने नए उत्पाद विकसित करने के लिए कर्मचारियों की भर्ती भी शुरु कर दी है। हालांकि गूगल ने अभी तक ये नहीं बताया है कि वो किस तरह के रोबोट विकसित करेगा। खबरों के अनुसार गूगल फ़िलहाल जिन रोबोट्स पर काम कर रहा है, उन्हें वो अभी बेचना नहीं चाहता। सूत्रों का कहना है कि गूगल सेल्फ़-ड्राइविंग कार में इस्तेमाल होने वाले रोबोट्स पर काम कर रहा है, ताकि सामानों की होम डिलीवरी में मदद मिल सके। एडिनबर्ग विश्वविद्यालय के रोबोटिक लैब विभाग के निदेशक प्रोफ़ेसर सेतु विजयकुमार…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Translate »