जवाहर मार्ग पर शीघ्र शुरू किया जाएगा पायलट प्रोजेक्ट

इंदौर (IDS-PRO) कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी की अध्यक्षता में आज स्थानीय रेडिसन होटल सभाकक्ष में इंदौर नगर की यातायात व्यवस्था को सुधारने तथा सुलभ लोक परिवहन व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिये स्विटजरलैण्ड की अंतर्राष्ट्रीय परिवहन संस्था वर्ल्ड बिजनेस कौंसिल फॉर सस्टनेबल डेवलपमेंट (डब्ल्यूबीसीएसडी) के प्रतिनिधियों के साथ पॉवर पाईंट प्रजेन्टेशन के जरिये नयी व्यवस्था को समझा गया और विचार-विमर्श किया गया। आज 18 नवम्बर से समाज कार्य महाविद्यालय इंदौर द्वारा शहर की परिवहन व्यवस्था सुधारने के संबंध में सभी वर्गों के प्रतिनिधियों से सर्वेक्षण कार्य शुरू किया जाएगा। प्रतिवेदन आने के बाद जवाहर मार्ग पर पायलेट प्रोजेक्ट लागू किया जाएगा। पावर पाईंट प्रजेंटेशन के जरिये डब्ल्यूबीसीएसडी के प्रमुख श्री माइकल फाही ने बताया कि हमारी कम्पनी लोक परिवहन को सरल, शीघ्र और सुगम बनाने के लिये स्मार्ट कार्ड, स्मार्ट मल्टीपल पार्किंग, सड़क सुरक्षा, दुर्घटना रोक, स्वचालित विद्युत सिग्नल लगाने पर जोर देती है। इससे यातायात सुगम और सरल हो जाता है।

प्रारंभिक तौर पर डब्ल्यूबीसीएसडी कम्पनी के प्रमुख श्री माइकल फाही ने अपनी कम्पनी की विशेषताओं और दूसरे देशों में किये गये प्रयोगों को पावर पाईंट प्रजेंटेशन के साथ वीडियो क्लीपिंग सहित परिवहन व्यवस्था सुधारने के लिये अनेक सुझाव दिये। उन्होंने बताया कि इंदौर शहर में परिवहन व्यवस्था सुधारने के लिये सबसे पहले मल्टी पार्किंग सिस्टम बनाना जरूरी है। उन्होंने बताया कि हमारी कम्पनी विश्व के सौ सर्वश्रेष्ठ कम्पनियों में से एक है। उनकी कम्पनी द्वारा नगर के सर्वेक्षण के उपरांत ट्राफिक व्यवस्था सुधारने के लिये प्रोजेक्ट लागू किया जाएगा। हर पांच साल में प्रोजेक्ट की समीक्षा की जाएगी। नई व्यवस्था के तहत एक स्मार्ट कार्ड जारी किया जाएगा, जिससे कोई भी व्यक्ति एसआईसीटीएसएल की बस, टैक्सी, आटो रिक्शा, आई बाइक, आई राइड आदि का उपयोग कर सकेगा।

बैठक में कलेक्टर श्री त्रिपाठी ने बताया कि इंदौर शहर में हर वर्ग के लोग रहते हैं। नई ट्राफिक व्यवस्था लागू करने से पहले सभी वर्गों से सुझाव लिया जाएगा। उसके बाद सक्षम एजेंसी को प्रोजेक्ट सौंपा जाएगा। जिला प्रशासन इंदौर नगर की परिवहन व्यवस्था को सुधारने के लिये कृतसंकल्पित है। इसके लिये जागरूकता अभियान भी चलाया जाएगा।
नये प्रोजेक्ट को लागू करने के लिये एक संचालन समिति का गठन किया गया है। इस समिति में कलेक्टर, अपर कलेक्टर, सीईओ आईडीए, एडीशनल एसपी ट्राफिक, सीईओ एसआईसीटीएसएल, कमिश्नर नगर निगम को प्रमुख रूप से शामिल किया गया है।

बैठक में आयुक्त नगर निगम श्री राकेश सिंह, मुख्य कार्यपालन अधिकारी इंदौर विकास प्राधिकरण श्री दीपक सिंह, मुख्य कार्यपालन अधिकारी अटल इंदौर सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विस लिमिटेड श्री संदीप सोनी सहित अनेक अधिकारी तथा इंटरनेशनल ट्रांसपोर्ट कम्पनी डब्ल्यूबीसीएसडी (स्विटजरलैण्ड) के प्रतिनिधि भी मौजूद थे।

इंदौर (IDS-PRO) कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी की अध्यक्षता में आज स्थानीय रेडिसन होटल सभाकक्ष में इंदौर नगर की यातायात व्यवस्था को सुधारने तथा सुलभ लोक परिवहन व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिये स्विटजरलैण्ड की अंतर्राष्ट्रीय परिवहन संस्था वर्ल्ड बिजनेस कौंसिल फॉर सस्टनेबल डेवलपमेंट (डब्ल्यूबीसीएसडी) के प्रतिनिधियों के साथ पॉवर पाईंट प्रजेन्टेशन के जरिये नयी व्यवस्था को समझा गया और विचार-विमर्श किया गया। आज 18 नवम्बर से समाज कार्य महाविद्यालय इंदौर द्वारा शहर की परिवहन व्यवस्था सुधारने के संबंध में सभी वर्गों के प्रतिनिधियों से सर्वेक्षण कार्य शुरू किया जाएगा। प्रतिवेदन आने के बाद जवाहर मार्ग पर पायलेट प्रोजेक्ट लागू किया जाएगा। पावर पाईंट…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Translate »