जानिए 24 वर्ष बाद होली पर कोन से दुर्लभ योग बन रहे है ?

मेरे अनुसार इस शुक्रवार (06 मार्च 2015 ) को होली है और इस बार 24 वर्ष बाद ज्योतिषीय दुर्लभ योग बन रहे हैं।
इस दफा होली शुक्रवार को पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र में मनाई जाएगी, इस नक्षत्र का स्वामी शुक्र है।
चंद्रमा पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र यानी सिंह राशि में रहेगा।
इस दिन गुरु एवं शुक्र दोनों अपनी उच्च राशि में रहेंगे। सूर्य कुंभ राशि में रहेगा।
इस सभी राशियों और नक्षत्रों के जातक इस अवसर का लाभ उठायें और उपाय करके जीवन को खुशहाल बनायें, आप अपनी कुण्डली के अनुसार कुछ सिद्ध प्रयोग कर के अच्छी सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

मेरे अनुसार लगभग 24 वर्ष पूर्व 1991 में भी ऐसा योग बना था, जब शुक्रवार को होली थी और शुक्र के स्वामित्व वाले पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र था, चंद्रमा भी सिंह राशि में था और गुरु-शुक्र भी अपनी-अपनी उच्च राशि में स्थित थे। यही योग इस वर्ष 2015 में बन रहा है। भविष्य में इस प्रकार का योग 24 वर्ष 2039 में बनेगा। उस समय शुक्रवार को गुरु-शुक्र उच्च के रहेंगे और होली आएगी, लेकिन चंद्रमा नक्षत्र बदल लेगा।

शुभ योग रहेगा होली पर
मेरे अनुसार इस होली पर बना यह ज्योतिषीय दुर्लभ योग शुभ रहेगा। शुक्र के नक्षत्र में एवं शुक्रवार को होली एवं शुक्र का वर्तमान में उच्च राशि मीन में स्थित होना सभी के लिए फायदेमंद हो सकता है। शुक्रवार की होली प्राकृतिक रूप से भी श्रेष्ठ रहेगी। व्यापार श्रेष्ठ रहेगा एवं उत्तम फसल की प्राप्ति होगी।

पंडित “विशाल” दयानन्द शास्त्री
मोब.– +91 96692 90067 (मध्यप्रदेश)
+91 90243 90067 (राजस्थान)
(ज्योतिष,वास्तु एवं हस्तरेखा विशेषज्ञ),
मोनिधाम (मोनतीर्थ), गंगा घाट,
संदीपनी आश्रम के निकट, मंगलनाथ मार्ग,
उज्जैन (मध्यप्रदेश) – 465006

Review Overview

User Rating: Be the first one !

: यह भी पढ़े :

दो कृष्ण अष्टमी तिथियां क्यों हैं…?

कृष्ण जन्माष्टमी भगवान कृष्ण के जन्म का उत्सव मनाने के लिए सबसे शुभ और महत्वपूर्ण …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »