Indore Dil Se - Movies

तुम बिन 2 – Tum Bin 2

तुम बिन-2 2001 में आई फिल्म तुम बिन का सीक्वल है। अगर हम करीब पंद्रह साल पहले रिलीज हुई फिल्म तुम बिन की बात करें तो उस फिल्म के गाने काफी हिट हुए थे और सुपरहिट गानों की वजह से ही काफी कम बजट में बनी फिल्म सुपहरहिट हुई थी। तुम बिन-2 का म्यूजिक अंकित तिवारी ने कंपोज किया है।

स्कॉटलैंड में तरन (नेहा शर्मा) और अमर (आशिम गुलाटी) दोनों अच्छे दोस्त है जो जल्दी ही शादी के पवित्र बंधन में बंधने वाले है। अमर बेहतरीन आइस स्केटर है, लेकिन एक ऐक्सीडेंट के बाद हर किसी को यही लगता है कि भीषण एक्सीडेंट के बाद अमर जिंदा नहीं रहा। तरन अब अमर के पापा जी (कंवलजीत सिंह) और दोस्तों की मदद से इस भयानक हादसे को भूलाकर जिंदगी को नए सिरे से जीने की नई कोशिश में लगी है, लेकिन तरन को अक्सर अमर की याद आती है, और उसके साथ गुजारे सुनहरे पल याद आते है। फिर भी तरन अब सब कुछ भूल जाना चाहती है।

इस सिंपल सी लव स्टोरी में मोड़ उस वक्त आता है जब कहानी में अचानक शेखर (आदित्य सील) की एंट्री होती है। शेखर के साथ बीते करीब पच्चीस-छब्बीस सालों में बहुत कुछ अजीबोगरीब हो चुका है, तरन को अब धीरे धीरे शेखर के साथ वक्त गुजारना अच्छा लगता है। मन ही मन तरन फैसला कर चुकी है कि अब वह शेखर के साथ नई जिंदगी शुरू करेगी, लेकिन अचानक एक दिन अमर एक बार फिर तरन की लाइफ में लौट आता है। उसके बाद जो होता है वह देखने लायक है।

तारीफ करनी होगी नेहा शर्मा की जिन्होंने स्क्रीन पर अपने किरदार को जीवंत कर दिखाया, खासकर इमोशंस सीन में नेहा ने गजब की ऐक्टिंग की है, अमर और शेखर के किरदारों में आशिम गुलाटी और आदित्य सील ने भी ठीक-ठाक ऐक्टिंग की है, कई सीन्स में आदित्य के सामने आशिम कमजोर नजर आए। पापा जी के रोल में कंवलजीत ने अपने किरदार में जान डाली है।

ऐसा लगता है अनुभव ने कहानी या स्क्रिप्ट पर ज्यादा काम करने की बजाय अपना फिल्म में ज्यादा से ज्यादा गाने फिट करने पर लगाया है। अगर गानों की बात करे तो फिल्म शुरू होने के करीब तीन-चार मिनट बाद ही गानों का सिलसिला शुरू हो जाता है, स्कॉटलैंड की लोकेशन और सिनेमेटोग्राफी बेजोड़ है, लेकिन कहानी को बेवजह खींचा गया है। फिल्म में पाकिस्तानी लड़के के साथ लव ऐंगल को क्यों फिट किया गया यह समझ से परे है तो वहीं इंटरवल के बाद कहानी को लंबा किया गया। अगर अनुभव फिल्म की एडिटिंग के वक्त दस-बारह मिनट की फिल्म पर अपनी और से कैंची चलाते तो दर्शकों को शायद फिल्म बांधे रख पाती।

फिल्म का संगीत इस फिल्म का सबसे बडा प्लस पॉइंट है, लेकिन तुम बिन पार्ट वन से इसकी तुलना नहीं की जा सकती। आपको जगजीत सिंह की गजल ‘तेरी फरियाद’ सुनने को मिलेगी।

क्यों देखें : अगर आप साफ-सुथरी म्यूजिकल लव स्टोरी स्क्रीन पर देखना चाहते है तो इस फिल्म को देखा जा सकता हैं। नेहा शर्मा की बेहतरीन परफॉर्मेंस और बेहतरीन लोकशन फिल्म देखने की एक और वजह हो सकते हैं।

Review Overview

User Rating: Be the first one !

: यह भी पढ़े :

IDS Live

संकट में ‘फिल्मी कारोबार’

मध्य भारत (मध्य प्रदेश) में फिल्म कारोबार में बड़ा बदलाव आया है। फिल्मों को वितरित …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »