दुर्लभ अभिलेखों एवं छायाचित्रों का प्रदर्शनी

शिवपुरी (IDS-PRO) संचालनालय पुरातत्व अभिलेखागार एवं संग्रहालय म.प्र. भोपाल द्वारा अमर शहीद तात्याटोपे के बलिदान दिवस 18 अप्रैल 2015 को तात्याटोपे समाधि स्थल पर एक दुर्लभ अभिलेख प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। इस दुर्लभ अभिलेख प्रदर्शनी में सन् 1857 में अंग्रेजों के विरूद्ध हुए विद्रोह के कई दुर्लभ अभिलेख एवं छायाचित्रों का प्रदर्शन किया गया। जिसमें तात्याटोपे के अतिरिक्त नाना साहब पेशवा, बानपुर के राजा मर्दनसिंह, शाहगढ़ के राजा बखतवली, राजा पृथपाल सिंह, जैतपुर के फौजदार सबाई माधोसिंह के हस्तलिखित पत्रों के अतिरिक्त क्रांति के संबंधों अंग्रेजों के भी पत्र प्रदर्शित किए गए हैं।

दुर्लभ अभिलेख प्रदर्शनी का उद्घाटन पोहरी के विधायक श्री प्रहलाद भारती द्वारा किया गया। विशेष अतिथि के रूप में भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस के उपमहानिरीक्षक श्री देवेन्द्र सिंह के अतिरिक्त गणमान्य नागरिक, अधिकारीगण एवं आमजन उपस्थित थे।

भोपाल से आए पुरालेख अधिकारी श्री सुबोध सिंधु ने पत्रों का सार आगंतुको को बताया। भोपाल कार्यालय के ही दीवानसिंह नरते, घनश्याम टांक एवं दीपनारायण कुशवाह ने भी प्रदर्शनी आयोजन में सहयोग किया। प्रदर्शनी की प्रशंसा सभी ने मुक्त कण्ठ से की।

शिवपुरी (IDS-PRO) संचालनालय पुरातत्व अभिलेखागार एवं संग्रहालय म.प्र. भोपाल द्वारा अमर शहीद तात्याटोपे के बलिदान दिवस 18 अप्रैल 2015 को तात्याटोपे समाधि स्थल पर एक दुर्लभ अभिलेख प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। इस दुर्लभ अभिलेख प्रदर्शनी में सन् 1857 में अंग्रेजों के विरूद्ध हुए विद्रोह के कई दुर्लभ अभिलेख एवं छायाचित्रों का प्रदर्शन किया गया। जिसमें तात्याटोपे के अतिरिक्त नाना साहब पेशवा, बानपुर के राजा मर्दनसिंह, शाहगढ़ के राजा बखतवली, राजा पृथपाल सिंह, जैतपुर के फौजदार सबाई माधोसिंह के हस्तलिखित पत्रों के अतिरिक्त क्रांति के संबंधों अंग्रेजों के भी पत्र प्रदर्शित किए गए हैं। दुर्लभ अभिलेख प्रदर्शनी का उद्घाटन पोहरी के…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Translate »