नेशनल लोक अदालत में 168 प्रकरणों का निराकरण

शिवपुरी (IDS-PRO)  राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई-दिल्ली एवं म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशानुसार तथा जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण शिवपुरी अध्यक्ष श्रीमती अंजुली पालो के मार्गदर्शन में प्रत्येक माह आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत के क्रम में शनिवार जिला मुख्यालय व तहसील मुख्यालयों पर बैंक मैटर्स पर तथा धारा 138 एन.आई. एक्ट रिकवरी सूट्स (पेंडिंग एवं प्रीलिटीगेशन) प्रकरणों के निराकरण हेतु नेशनल लोक अदालत आयोजित की गई। लोक अदालत में प्रकरणों का निराकरण जिला मुख्यालय व तहसील मुख्यालयों में गठित खण्डपीठों द्वारा किया गया। जिसमें बैंको के प्रीलिटीगेशन के 135 प्रकरणों का निराकरण किया जाकर राशि 33 लाख 8 हजार 166 रूपए की बसूली की गई तथा न्यायालयों में लंबित प्रकरणों में 33 केसों का निराकरण किया जाकर राशि 27 लाख 62 हजार रूपए, इस प्रकार कुल 168 प्रकरणों में 60 लाख 70 हजार 419 रूपए की राशि की बसूली की गई।

जिला न्यायालय परिसर शिवपुरी में आयोजित नेशनल लोक अदालत के शुभारंभ अवसर पर व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-2 श्रीमती नीलू संजीव श्रृंगऋषि ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलित कर किया। इस मौके पर तृतीय अपर न्यायाधीश श्री कमर इकबाल खान, अतिरिक्त व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-2 श्री हिमांशु कौशल, जिला उपभोक्ता फोरम के अध्यक्ष श्यामबिहारी भार्गव सहित न्यायाधीशगण, बैंकर्स, अधिकारी, अधिवक्तागण और पक्षकार आदि उपस्थित थे।

शिवपुरी (IDS-PRO)  राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई-दिल्ली एवं म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के निर्देशानुसार तथा जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण शिवपुरी अध्यक्ष श्रीमती अंजुली पालो के मार्गदर्शन में प्रत्येक माह आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत के क्रम में शनिवार जिला मुख्यालय व तहसील मुख्यालयों पर बैंक मैटर्स पर तथा धारा 138 एन.आई. एक्ट रिकवरी सूट्स (पेंडिंग एवं प्रीलिटीगेशन) प्रकरणों के निराकरण हेतु नेशनल लोक अदालत आयोजित की गई। लोक अदालत में प्रकरणों का निराकरण जिला मुख्यालय व तहसील मुख्यालयों में गठित खण्डपीठों द्वारा किया गया। जिसमें बैंको के प्रीलिटीगेशन के 135 प्रकरणों का…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Translate »