Don't Miss

बसों के अनुरक्षण शुल्क में वृद्धि

इंदौर | कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी की अध्यक्षता में आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला यातायात, सड़क सुरक्षा और बस स्टैण्ड निगरानी समिति की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में कलेक्टर श्री त्रिपाठी ने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि आगामी सिंहस्थ 2016 के मद्देनजर इंदौर के दोनों प्रमुख बस स्टैण्ड सरवटे और गंगवाल का कायाकल्प जरूरी है। इस संबंध में शीघ्रातिशीघ्र आवश्यक कदम उठाये जायें। बैठक में डीआईजी श्री राकेश गुप्ता,पुलिस अधीक्षक मुख्यालय श्री अनिल शर्मा, पुलिस अधीक्षक पश्चिम श्री आबिद खान, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुश्री अंजना तिवारी, आरटीओ श्री एम.पी.सिंह मोजूद थे।

श्री त्रिपाठी ने कहा कि सरवटे बस स्टैण्ड के उन्नयन एवं विकास पर 50 लाख रुपये खर्च किये जायेंगे। इसके लिये इंदौर विकास प्राधिकरण को निर्माण एजेंसी बनाया गया है। इस काम के लिये 25-25 लाख के दो प्राक्कलन बनाये जायेंगे और एक सप्ताह के भीतर जनभागीदारी मद से प्रथम प्राक्कलन के लिये 25 लाख रुपये जारी किये जायेंगे, जिससे सरवटे बस स्टैण्ड के कायाकल्प के काम में तेजी आ सके।

श्री त्रिपाठी ने इस अवसर पर यह भी कहा कि दोनों बस स्टैण्डों पर थर्ड आई सिक्युरिटी एजेंसी से सुरक्षा गार्ड लगाये जायेंगे। रेलवे स्टेशन प्लेटफार्म क्रमांक 5 पर ऑटो रिक्शा के लिये प्री-पेड बूथ निर्मित किया जायेगा। रेलवे स्टेशन से सरवटे बस स्टैण्ड को जोड़ने के लिये नगर निगम इंदौर द्वारा सब-वे का निर्माण किया जायेगा। उन्होंने बताया कि गंगवाल बस स्टैण्ड की मरम्मत, उन्नयन और विकास पर साढ़े 21 लाख रुपये खर्च किये जायेंगे। गंगवाल बस स्टैण्ड की दुकानों से प्राप्त किराया सड़क परिवहन निगम को सन् 2010 से दिया जायेगा।

बैठक में निर्णय लिया गया कि दोनों प्रमुख बस स्टेण्डों पर छोटी बसों से 100 रुपये और बड़ी बसों से डेढ़ सौ रूपये प्रतिदिन अनुरक्षण शुल्क लिया जायेगा। बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि सरवटे बस स्टैण्ड पर और कुर्सियां लगायी जायेंगी। दोनों बस स्टेण्डों पर 12 लाख रुपये की लागत से आटोमेटिक बूम बेरियर लगाये जायेंगे।

बैठक में यह भी निर्णय लिया गया कि रीगल चौराहा और तिलक प्रतिमा व विजय नगर रोटरी को शीघ्र ही छोटा किया जायेगा। बीआरटीएस से टाटा मैजिक और मारूति वेन को वैकल्पिक मार्ग पर चलाया जायेगा। लोक परिवहन सेवाओं के चालकों के चरित्र का सत्यापन किया जायेगा। पाटनीपुरा से सब्जी दुकानों को अन्यत्र स्थानांतरित किया जायेगा। साकेत चौराहे पर दुर्घटना रोकने के लिये स्पीडब्रोकर और यातायात संकेतक लगाये जायेंगे। ग्रामीण मार्गों को चिन्हांकित कर ग्रामीण क्षेत्रों में निजी वाहन मारुति वैन और टाटा मैजिक के लिये लायसेंस जारी किये जायेंगे। बैठक में आरटीओ श्री एम.पी.सिंह ने बताया कि नगर के 90 प्रतिशत स्कूल बसों में सीसीटीवी कैमरे लगा दिये गये हैं। 52 बसों में महिला कण्डक्टर की नियुक्ति कर दी गयी है। जवाहर मार्ग पर पार्किंग की वर्तमान आल्टरनेट पार्किंग व्यवस्था जारी रहेगी। संजय सेतु के पास मल्टीलेवल पार्किंग का काम शीघ्र शुरू किया जायेगा। रेडिशन चौराहे के उन्नयन और सुधार का काम नगर निगम को सौंप दिया गया है। बैठक में नगर निगम, आईडीए, इंदौर सिटी बस सर्विस, राजस्व और पुलिस विभाग के अधिकारी मौजूद थे।

इंदौर | कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी की अध्यक्षता में आज कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिला यातायात, सड़क सुरक्षा और बस स्टैण्ड निगरानी समिति की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में कलेक्टर श्री त्रिपाठी ने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि आगामी सिंहस्थ 2016 के मद्देनजर इंदौर के दोनों प्रमुख बस स्टैण्ड सरवटे और गंगवाल का कायाकल्प जरूरी है। इस संबंध में शीघ्रातिशीघ्र आवश्यक कदम उठाये जायें। बैठक में डीआईजी श्री राकेश गुप्ता,पुलिस अधीक्षक मुख्यालय श्री अनिल शर्मा, पुलिस अधीक्षक पश्चिम श्री आबिद खान, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुश्री अंजना तिवारी, आरटीओ श्री एम.पी.सिंह मोजूद थे। श्री त्रिपाठी ने कहा कि सरवटे बस…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Translate »