युवाओं को रक्षक के रूप में दिलाई गई शपथ

इंदौर (IDS-PRO) तम्बाकू मुक्त समाज निर्माण के लिये विद्यालय और महाविद्यालयों में रक्षक दल का गठन किया जायेगा। यह रक्षक दल कक्षावार भी गठित किये जायेंगे। रक्षक दल के सदस्य स्वयं न तो तम्बाकू और ना ही इससे बने उत्पादों का सेवन करेंगे। साथ ही वे रक्षक बनकर समाज में जनजागृति लाने तथा प्रेरणा देने का कार्य करेंगे। आज बाल दिवस के अवसर पर इन्दौर बायपास पर स्थित एडवांस एकेडमी में आयोजित कार्यक्रम में सैकड़ों युवाओं को तम्बाकू का सेवन नहीं करने तथा समाज में जनजागृति लाने की शपथ दिलाई गई। यह शपथ कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी ने दिलवाई।

इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में डीआईजी श्री राकेश गुप्ता, नगर निगम आयुक्त श्री राकेश सिंह, एसपी श्री ओ.पी. त्रिपाठी, अपर कलेक्टर द्वय श्री दिलीप कुमार तथा श्री सुधीर कुमार कोचर, एडवांस एकेडमी के डायरेक्टर श्री अनिल रॉय सहित जिला प्रशासन के अन्य अधिकारी मौजूद थे।

यह कार्यक्रम जिला प्रशासन द्वारा आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम में एडवांस एकेडमी के विद्यार्थियों ने भाग लिया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये कलेक्टर श्री आकाश त्रिपाठी ने इंदौर जिले में समाज को तम्बाकू के सेवन से पूरी तरह मुक्त कराने के लिये चलाये जा रहे अभियान की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पहले चरण में सभी सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान को प्रतिबंधित किया गया है। सार्वजनिक स्थान पर धूम्रपान करने वाले लोगों के विरूद्ध कार्यवाही का सिलसिला भी शुरू कर दिया गया है । अभी तक सवा हजार से अधिक व्यक्ति दण्डित किये जा चुके हैं। तम्बाकू नियंत्रण कानून के प्रभावी क्रियान्वयन के लिये इंदौर जिले में किये जा रहे प्रयासों की उन्होंने जानकारी दी। कलेक्टर श्री त्रिपाठी ने कहा कि तम्बाकू धीमा जहर है। यह अभी आसानी से मिल रहा है। इस जहर का उपयोग किसी भी तरह से नहीं किया जाना चाहिये। यह जहर उपयोगकर्ता के साथ परिवार और समाज की बर्बादी का कारण भी बनता है। उन्होंने युवाओं से कहा कि वे रक्षक बनकर स्वयं के साथ परिवार और समाज को तम्बाकू के दुष्परिणामों से बचायें।

उन्होंने बताया कि जिले में प्रत्येक विद्यालय और महाविद्यालयों में रक्षक दलों का गठन किया जायेगा। यह रक्षक दल कक्षावार भी गठित होंगे। रक्षक दल के सदस्य समाज में जनजागृति लाने तथा प्रेरणा देने का कार्य करेंगे।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये डीआईजी श्री राकेश गुप्ता ने कहा कि युवा रक्षक बनकर स्वयं के साथ ही परिवार एवं समाज की रक्षा का दायित्व उठायें। समाज में बढ़ रही नशे की प्रवृत्ति को समाप्त करने की दिशा में दूत बनकर काम करें। उन्होंने बताया कि नशे का सेवन दृढ़ इच्छाशक्ति से ही रोका जा सकता है। उन्होंने कहा कि समाज में सामाजिक एवं पारिवारिक दबाव कम होने से युवा नशे एवं तम्बाकू के सेवन की ओर बढ़ रहे हैं। युवा डिप्रेशन का बहाना लेकर भी नशे की ओर प्रवृत्त हो रहे हैं। इस प्रवृत्ति को हम सबको मिलकर रोकने की जरूरत है। युवा अपनी शक्ति का उपयोग सही दिशा में करें। वे अध्ययन के साथ ही खेलकूद पर भी ध्यान दें।

कार्यक्रम में एसडीएम श्री संदीप सोनी ने युवाओं को पावर पाईंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से तम्बाकू के सेवन से होने वाली हानियों, तम्बाकू के दुष्परिणामों आदि के बारे में तथ्यात्मक रूप से विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम में मध्यप्रदेश वालेन्टीयर हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के श्री मुकेश सिन्हा ने भी तम्बाकू नियंत्रण के लिये किये जा रहे प्रयासों की जानकारी दी।

Review Overview

User Rating: Be the first one !

: यह भी पढ़े :

मध्यप्रदेश को मिले 8 राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार

राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार में छाया मध्यप्रदेश, मिले 8 पुरस्कार। स्वच्छता में लगातार पांच बार नंबर …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »