स्वैच्छिक रक्तदान कर असहाय व्यक्तियों की मदद करें

शिवपुरी (IDS-PRO) जिला चिकित्सालय शिवपुरी में प्रति दिवस अत्यंत गरीब आदिवासी महिलाओं की प्रसव शल्य क्रिया गरीब, साधनहीन व्यक्तियों के आॅपरेशन होते है, साथ ही रोगियों को रक्त अल्पता के कारण अक्सर रक्त दिये जाने की आवश्यकता पड़ती है। रक्तदान परोपकार का एक आदर्श उदाहरण है। जो समाज को वर्ग, जाति, रंग या धर्म की विविधता के बावजूद एक सूत्र में पिरोये रखता है। जनवरी माह स्वैच्छिक रक्तदान माह के रूप में मनाया जा रहा है। साथ ही प्रत्येक रविवार को साप्ताहिक रक्तदान शिविर भी आयोजित किया जाएगा। सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक डाॅ.गोविंद सिंह ने सभी महानुभावों से आग्रह किया है कि वे स्वैच्छिक रक्तदान कर असहाय व्यक्तियों की मदद करें। जिला चिकित्सालय ब्लड बैंक शिवपुरी में रक्तदान किया जा सकता है। जिला चिकित्सालय शिवपुरी में रक्तकोष में किसी भी समय उपस्थित होकर स्वैच्छिक रक्तदान कर सकते है।

सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक डाॅ.गोविंद सिंह ने बताया कि जिला शिवपुरी वर्ष 2013 में अच्छा प्रतिशत रहा है। यह शिवपुरी जिले की सरकारी एवं गैर सरकारी व समाजिक संस्थाओं एवं आम नागरिकों द्वारा किये गये सराहनीय योगदान के कारण संभव हो सका है। जिसके बधाई के पात्र आप सभी है स्वैच्छिक रक्तदान का प्रतिशत और अधिक बढ़ाया जा सके, ताकि रक्तदान के माध्यम से सुरक्षित रक्त के उपयोग को बढावा देकर मरणासन्न व्यक्तियों को जीवनदान दिया जा सकता है।

उन्होंने बताया कि सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक जिला शिवपुरी ने कहा कि स्वैच्छिक रक्तदान से हैपेटाईटिस-बी, हैपेटाईटिस-सी, सिफलिश एवं एच.आई.व्ही./एड्स, मलेरिया जैसे संक्रामक रोगों से भी बचाव किया जा सकता है। जिले में एक मात्र लायसेंस प्राप्त रक्तकोा है, जिसमें वर्ष 2005 में 1320, वर्ष 2006 में 1736, वर्ष 2007 में 1941, वर्ष 2008 में 3199, वर्ष 2009 में 3171 एवं 2010 में 3949, वर्ष 2011 में 4876, वर्ष 2012 में 3672 एवं 2013 में 3241 रक्त यूनिट एकत्रित किया गया। वर्तमान में रक्त की बढ़ती हुई आवश्यकता को दृष्टिगत रखते हुए जन प्रतिनिधियों, रेडक्राॅस सोसायटी शिवपुरी, वरिष्ठ नागरिकों जिला पंचायत, जनपद पंचायत, नगरपालिका आदि के अध्यक्षों एवं सदस्यो, स्वयंसेवी संस्थाओं, सरकारी एवं गैर सरकारी संस्थाओं के युवा व्यक्तियों, पुलिस, होमगार्ड के जवानों, महाविद्यालय, विद्यालय, नेहरू युवा केन्द्र, एनसीसी, एनएसएस, स्कउड गाईड के छात्र-छात्राओं, लाउन्स क्लब, रोटरी क्लब, मानवता सेवा भारती, सी.आर.पी.एफ, आई.टी.व्ही.पी. के जवानो से अपील कर आग्रह किया है कि वह नियमित स्वैच्छिक रक्तदान के प्रति उत्साहित करते है एवं समग्र स्वैच्छिक रक्तदान की दिशा में निःस्वार्थ सेवाभाव की मशाल जलाये रखें। म.प्र.राज्य एड़स नियंत्रण समिति भोपाल द्वारा जिला चिकित्सालय शिवपुरी को ब्लड ट्रांसपोर्ट वेन प्रदाय की गई है, जिसके तहत तीन जिले शिवपुरी, श्योपुर एवं दतिया में रक्तदान शिविर आयोजित कर, वहां से रक्त लाकर, रक्तदान कर मरणासन्न को जीवन दान मिल सकेगा।

शिवपुरी (IDS-PRO) जिला चिकित्सालय शिवपुरी में प्रति दिवस अत्यंत गरीब आदिवासी महिलाओं की प्रसव शल्य क्रिया गरीब, साधनहीन व्यक्तियों के आॅपरेशन होते है, साथ ही रोगियों को रक्त अल्पता के कारण अक्सर रक्त दिये जाने की आवश्यकता पड़ती है। रक्तदान परोपकार का एक आदर्श उदाहरण है। जो समाज को वर्ग, जाति, रंग या धर्म की विविधता के बावजूद एक सूत्र में पिरोये रखता है। जनवरी माह स्वैच्छिक रक्तदान माह के रूप में मनाया जा रहा है। साथ ही प्रत्येक रविवार को साप्ताहिक रक्तदान शिविर भी आयोजित किया जाएगा। सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक डाॅ.गोविंद सिंह ने सभी महानुभावों से…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Translate »