मॉ नर्मदा वनवासी लिंक सिंचाई परियोजना से बदलेगी आदिवासी जिले की तस्वीर एवं तकदीर – मुख्यमंत्री

इंदौर (अलीराजपुर) : मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने भाबरा में आयोजित जनसभा को सम्बोधित करते हुये कहा कि अलीराजपुर जिले के लिये मॉ नर्मदा वनवासी लिंक परियोजना की स्वीकृति हो गई है तथा पहले चरण के लिये 582 करोड़ रूपये भी मंजूर हो गये हैं। उन्होंने कहा कि परियोजना का जल्द ही शिलान्यास किया जायेगा। इस परियोजना से आदिवासी जिले अलीराजपुर की तस्वीर के साथ-साथ तकदीर भी बदल जायेगी। वे गुरूवार को अलीराजपुर जिले के चन्द्रशेखर आजाद नगर में अमर शहीद चन्द्रशेखर आजाद की जयन्ती के अवसर पर स्वराज संस्थान संचालनालय संस्कृति विभाग भोपाल एवं जिला प्रशासन के तत्वाधान में आयोजित आजाद मेला को सम्बोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि अलीराजपुर जिले की जोबट परियोजना के विस्तार को भी मंजूरी दी जायेगी तथा 157 करोड़ रूपये की लागत से परियोजना का विस्तार किया जायेगा, इससे 22 ग्रामों की 10 हजार हेक्टेयर भूमि में सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। उन्होंने कहा कि भाबरा में नये आईटीआई की माँग को भी पूरा किया जायेगा। जोबट व भाबरा की नगर परिषद में विकास कार्यों के लिये एक-एक करोड़ की स्वीकृति देने की माँग की भी स्वीकृति देने की घोषणा की। जोबट के लिये 12.51 करोड़ रूपये की लागत से मुख्यमंत्री पेयजल योजना तथा सेंजवाड़ा में एकलव्य आदिवासी छात्रावास की भी स्वीकृति देने की घोषणा की। इसके अलावा एक बच्ची के ईलाज के लिये एक लाख रूपये तथा करंट लगने से बालक की मृत्यु पर परिजनों को एक लाख रूपये की मंजूरी दिये जाने की भी घोषणा की।

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने अमर शहीद चन्द्रशेखर आजाद की शहादत को याद करते हुए कहा कि देश में क्रान्तिकारी लहर ने अंग्रेजों के पैर उखाड़ने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि देश की आजादी में अमर शहीद चन्द्रशेखर आजाद, सरदार भगतसिंह, राजगुरू, सुखदेव, रामप्रसाद बिस्मिल, दुर्गा बाई आदि ने बढ़-चढ़कर भागीदारी की तथा अपने प्राण न्यौछावर कर दिये। उन्होंने देश के इतिहास में इन क्रान्तिकारियों को सम्मान से याद किये जाने की जरूरत पर बल दिया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि गरीब व आदिवासियों के विकास के लिये कोई कसर बाकी नहीं रखी जायेगी। आदिवासियों के लिये चाहे बीपीएल हो या नहीं हों उन्हें एक रूपये प्रति किलो चावल व गेहॅू दिये जाने की योजना पहले से ही लागू की है। उन्होंने कहा कि हाल ही में उन्होंने फैसला लिया है कि आदिवासियों के बच्चे आईआईटी, आईआईएम, डॉक्टर, इंजीनियर बनने के लिये प्रवेश लेते हैं, तो उनके एडमिशन की फीस का खर्चा मध्यप्रदेश सरकार उठाएगी। यह भी निर्णय लिया है कि 11वीं व 12वीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को भोजन व शिष्यवृत्ति भी दी जायेगी। विदेश में यदि किसी अधिकृत विश्वविद्यालय में उच्च शिक्षा हेतु प्रवेश लेते हैं तो 15 से 20 लाख रूपये तक की फीस का खर्चा मध्यप्रदेश सरकार वहन करेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गरीबों, महिलाओं व किसानों के लिये राज्य सरकार द्वारा लागू की गई योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने बोनस के स्थान पर किसानों द्वारा लिये जाने वाले ऋण पर 10 प्रतिशत सब्सिडी देने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि बुजुर्गों के लिये जो मुख्यमंत्री तीर्थदर्शन योजना लागू की गई है, उसमें 18 स्थलों को तीर्थस्थल के रूप में चयनित किया गया है। आदिवासियों की माँग को दृष्टिगत रखते हुए रामदेवरा तीर्थ स्थल को भी इस योजना में जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि वनाधिकार पट्टे से वंचित रह गये ऐसे आदिवासी जिनका वर्षों से वन भूमि पर कब्जा है, उन सभी आदिवासियों को वनाधिकार पट्टे दिये जाएंगे।

समारोह में प्रदेश के श्रम एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री श्री अंतरसिंह आर्य, विधायक जोबट श्री माधौसिंह डाबर, विधायक अलीराजपुर श्री नागरसिंह चौहान तथा अमरदीप मौर्य ने भी अपने विचार व्यक्त किये। समारोह में जिला प्रशासन द्वारा अन्त्योदय मेले का आयोजन भी किया गया। जिसमें मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान के हाथों हितग्राहियों की प्रतीक स्वरूप लाड़ली लक्ष्मी योजना के स्वीकृति पत्र, एनआरएलएन, शौचालय, नलकूप, बलराम तालाब, बायोगैस, उद्योग विभाग की योजनाओं में स्वीकृति पत्र एवं आदान सामग्री का वितरण किया गया। मेले में कुल 15 करोड़ 74 लाख रूपये के स्वीकृत पत्र व आदान सामग्री हितग्राहियों को वितरित की गई।

समारोह में जिले के प्रभारी मंत्री एवं प्रदेश के श्रम एवं अल्प संख्यक कल्याण मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री अंतरसिंह आर्य, स्वास्थ्य मंत्री श्री नरोत्तम मिश्रा, सांसद धार श्रीमती सावित्री ठाकुर, विधायक जोबट श्री माधौसिंह डावर, विधायक अलीराजपुर श्री नागरसिंह चौहान, विधायक मनावर श्रीमती रंजना बघेल, विधायक झाबुआ श्री कलसिंह भाभर, सुश्री निर्मला भूरिया, विधायक सरदारपुर श्री वेलसिंह भूरिया, विधायक सैलाना श्रीमती संगीता चांदेल, विधायक इन्दौर श्री रमेश मेंदोला, जिला पंचायत अध्यक्ष अलीराजपुर श्रीमती अनिता चौहान, अरविन्द मेनन, अमरदीप मौर्य, प्रमुख सचिव संस्कृति विभाग श्री मनोज श्रीवास्तव एवं अन्य विधायकगण विशेष रूप से मौजूद थे। कार्यक्रम का संचालन स्वास्थ्य मंत्री श्री नरोत्तम मिश्रा ने किया।

इंदौर (अलीराजपुर) : मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने भाबरा में आयोजित जनसभा को सम्बोधित करते हुये कहा कि अलीराजपुर जिले के लिये मॉ नर्मदा वनवासी लिंक परियोजना की स्वीकृति हो गई है तथा पहले चरण के लिये 582 करोड़ रूपये भी मंजूर हो गये हैं। उन्होंने कहा कि परियोजना का जल्द ही शिलान्यास किया जायेगा। इस परियोजना से आदिवासी जिले अलीराजपुर की तस्वीर के साथ-साथ तकदीर भी बदल जायेगी। वे गुरूवार को अलीराजपुर जिले के चन्द्रशेखर आजाद नगर में अमर शहीद चन्द्रशेखर आजाद की जयन्ती के अवसर पर स्वराज संस्थान संचालनालय संस्कृति विभाग भोपाल एवं जिला प्रशासन के तत्वाधान में आयोजित…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Translate »