Author Archives: IDS Live

Rajwada – Center of Indore

Coming Soon. . . .

Read More »

Chatur Singh Two Star

Review :- Is this supposed to be a desi Pink Panther? Sad. Because Sanjay Dutt’s goofy cop act borders on the juvenile, rather than the funny. His grotesque hair do and sartorial get-up are not the only jarring point of the film. Equally bizarre is his performance which totally fails to do what it was meant to: elicit laughter. In ...

Read More »

मेरा हिन्दुस्तां

जहाँ हर चीज है प्यारी सभी चाहत के पुजारी प्यारी जिसकी ज़बां वही है मेरा हिन्दुस्तां जहाँ ग़ालिब की ग़ज़ल है वो प्यारा ताज महल है प्यार का एक निशां वही है मेरा हिन्दुस्तां जहाँ फूलों का बिस्तर है जहाँ अम्बर की चादर है नजर तक फैला सागर है सुहाना हर इक मंजर है वो झरने और हवाएँ, सभी मिल ...

Read More »

Bansaljee launch Indore Dil Se

There is a new website in town. Featuring Food, Music & Fun, all Dil se. Brought to you buy Naresh Bansaljee, your Idea guy. Let us look forward to more fun frolic and life.

Read More »

Aarakshan

Review :- Filmmaker Prakash Jha is a breed apart. Beginning as a premier proponent of India’s parallel cinema movement in the 1970s-1980s, he never chose to lose his moorings. Instead, he opted to increase the contours of his canvas by opting for a kind of cinema that combined art with mainstream, meaning with masala. Hence the importance of films like ...

Read More »

पथ की पहचान

पूर्व चलने के बटोही बाट की पहचान कर ले। पुस्तकों में है नहीं छापी गई इसकी कहानी हाल इसका ज्ञात होता है न औरों की जबानी अनगिनत राही गए इस राह से उनका पता क्या पर गए कुछ लोग इस पर छोड़ पैरों की निशानी यह निशानी मूक होकर भी बहुत कुछ बोलती है खोल इसका अर्थ पंथी पंथ का ...

Read More »

जीवन की आपाधापी में

जीवन की आपाधापी में कब वक़्त मिला कुछ देर कहीं पर बैठ कभी यह सोच सकूँ जो किया, कहा, माना उसमें क्या बुरा भला। जिस दिन मेरी चेतना जगी मैंने देखा मैं खड़ा हुआ हूँ इस दुनिया के मेले में, हर एक यहाँ पर एक भुलाने में भूला हर एक लगा है अपनी अपनी दे-ले में कुछ देर रहा हक्का-बक्का, ...

Read More »
Translate »