10 जनवरी से लगेगा बूस्टर डोज, नए रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं

नई दिल्ली । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते दिनों अपने राष्ट्र के नाम संबोधन में घोषणा की थी कि भारत में भी जरूरत मंद लोगों को कोरोना की बूस्टर डोज दी जाएगी। बूस्टर डोज की शुरुआत 10 जनवरी 2022 से हो रही है। अब केंद्र सरकार ने इसके लिए विस्तृत गाइडलाइन की ऐलान भी कर दिया है। सबसे अच्छी बात यह है कि पहले और दूसरे डोज की तरह इस बार कोविन ऐप पर नए रजिस्ट्रेशन नहीं करना होगा। हां अपॉइंटमेंट लेना होगा। हालांकि जिन वरिष्ठ नागरिकों को बूस्टर डोज लगवाना है, वो सीधे टीकाकरण केंद्र पर जाकर ऐसा कर सकते हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने साफ कर दिया है कि नए रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं होगी।

बूस्टर डोज के लिए टीकाकरण प्रक्रिया 8 जनवरी से शुरू होगी और शेड्यूल 8 जनवरी को प्रकाशित किया जाएगा।ऑनसाइट अपॉइंटमेंट के साथ टीकाकरण 10 जनवरी से शुरू होगा।

प्रिकॉशन डोज या बूस्टर डोज की खुराक स्वास्थ्य सेवा और फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ ही 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को 10 जनवरी से दी जाएगी। जिन लोगों को यह टीका लगाना है, वे सीधे किसी भी COVID टीकाकरण केंद्र में अपॉइंटमेंट ले सकते हैं या सीधे वहां पहुंचकर टीका लगवा सकते हैं।

60 साल और उससे अधिक आयु के नागरिकों को बूस्टर डोज के लिए डॉक्टर से सर्टिफिकेट प्रस्तुत करने की जरूरत नहीं है। हालांकि ऐसे व्यक्तियों को तीसरी खुराक लेने से पहले डॉक्टर से सलाह लेने को कहा गया है।

केंद्र सरकार पहले ही कह चुकी है कि COVID-19 वैक्सीन की एहतियाती खुराक वही वैक्सीन होगी जो पहले दो खुराक में दी गई थी। जिन लोगों ने पहले कोवैक्सिन लगी है, उन्हें कोवैक्सिन लगाई जाएगी, जिन्हें कोविशील्ड की दो खुराक मिली है, उन्हें कोविशील्ड ही लगाई जाएगी।

60 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति एवं स्वास्थ्य सेवा और फ्रंटलाइन वर्कर्स निम्न गाइडलाइंस के अंतर्गत अपना बूस्टर डोज लगवा सकते हैं।

1. जो व्यक्ति 60 वर्ष या उससे अधिक आयु का हो गया हो और उन्होंने वेक्सीन की दोनो खुराक लगा ली हो।
2. बूस्टर डोज के पूर्व एक बार डॉक्टर की सलाह अवश्य ले ले
3. बूस्टर डोज उन्ही को लगाया जा सकता है जिनको दूसरी डोज लगे 9 महीने याने 39 सप्ताह हो चूके हो।
4. जिनको कोविसील्ड वेक्सीन लगी है उनको बूस्टर डोज भी कोविसील्ड का ही लगेगा और जिनको कोवेक्सिन वेक्सीन लगी है उनको बूस्टर डोज भी कोवेक्सिन का ही लगेगा।

Review Overview

User Rating: Be the first one !

: यह भी पढ़े :

मध्यप्रदेश को मिले 8 राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार

राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार में छाया मध्यप्रदेश, मिले 8 पुरस्कार। स्वच्छता में लगातार पांच बार नंबर …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »