Sunday , 5 February 2023

दरबार-ए-अशरफिया में मनाया गया ईद मिलाद अन नबी जश्न . . . . .

मखदूम अशरफ चैरिटेबल एजुकेशनल ट्रस्ट एवं दरबार-ए-अशरफिया ( शान ए हिंदुस्तान ) में मनाया गया ईद मिलाद अन नबी जश्न . . . . .
भारत समेत दुनिया के कई देशों में 10 नवंबर को ईद मिलाद-उन-नबी मनाया गया ! ईद मिलाद-उन-नबी का नाम सुनते ही मन में ये सवाल उठने लगता है कि ये कौन सी ईद है और मुसलमान साल में कितनी ईद मनाते हैं ! तो इसका जवाब ये है कि ईद का अर्थ होता है ख़ुशी यानी ईद मिलाद-उन-नबी का मतलब है नबी के जन्म की ख़ुशी ! नबी यानी इस्लाम के आख़िरी पैग़म्बर हज़रत मोहम्मद (570-632). हज़रत मोहम्मद का जन्म सऊदी अरब के शहर मक्का में साल 570 ईस्वी में इस्लामिक वार्षिक कैलेंडर के तीसरे महीने रबी-उल-अव्वल की 12वीं तारीख़ को हुआ था ! इस्लामिक कैलेंडर लूनर नियम पर आधारित है इसलिए इस्लामिक तारीख़ और अंग्रेज़ी तारीख़ अलग-अलग होती है ! इस बार 12 रबी-उल-अव्वल 10 नवंबर को है इसलिए रविवार को ईद मिलाद-उन-नबी मनाया जा रहा है ! मुसलमानों का विश्वास है कि अल्लाह ने अलग-अलग समय पर दुनिया के हर हिस्से में अपना संदेश देने के लिए अपने दूत भेजे हैं जिन्हें नबी या पैग़म्बर (पैग़ाम यानी संदेश देने वाला) कहा जाता है ! हज़रत मोहम्मद अल्लाह के भेजे गए आख़िरी दूत हैं !

User Rating: Be the first one !

: यह भी पढ़े :

आजादी का अमृत महोत्सव का सीधा प्रसारण 56 दुकान से....

आजादी का अमृत महोत्सव का सीधा प्रसारण 56 दुकान से….

15 अगस्त 2022 को भारत अपनी आजादी का 75वीं वर्षगांठ (75th Independence Day) मनाएगा। इस …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »