दीपावली 2017 पर्व पर लक्ष्मी प्राप्ति के कुछ उपाय

इस धरती पर हर जातक धन और ऐश्वर्य की चाह रखता है,और इसके लिए कड़ी मेहनत के साथ साथ तरह तरह के उपाय भी करता है।माँ लक्ष्मी को धन की देवी कहा जाता है।कहते है कि माँ लक्ष्मी की आराधना से जीवन में किसी भी भौतिक सुख सुविधा की कमी नहीं रहती है।

दीवाली पर माँ लक्ष्मी की पूजा आराधना का अत्यंत महत्व है।ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस दिन माँ लक्ष्मी की पूजा करने से घर में स्थाई सुख समृद्धि और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है।शास्त्रो के अनुसार दीपावली के दिन किये गए लक्ष्मी प्राप्ति के उपायों से अति शीघ्र फल मिलता है।
यहाँ पर दिवाली पर लक्ष्मी प्राप्ति के उपाय बता रहे है जिससे घर में अवश्य ही माँ लक्ष्मी का वास होगा।

जानिए दिवाली पर लक्ष्मी प्राप्ति के उपाय –

?यदि आप गृह कलेश से पीड़ित है आपके घर की सुख शांति दूर हो गयी है तो आप दीपावली के दिन माँ लक्ष्मी के पूजन के बाद २ गोमती चक्र लेकर एक डिब्बी में पहले सिंदूर रखकर उस पर उनको रख दें फिर उस डिब्बी को बंद करके घर के किसी एकांत स्थान में रख दें।इसे घर के किसी भी सदस्य को नहीं बताएं,घर में शीघ्र ही शांति हो जाएगी।

?दिवाली के दिन लक्ष्मी पूजन के समय २ अकीक लक्ष्मी जी के चरणों में रख दें। पूजन के पश्चात अर्ध रात्रि को इन दोनों को घर के किसी कोने में भूमि में खोद कर गाड दें बिगड़े काम बनते नजर आयेगें।
रात्रि की समाप्ति से पूर्व ब्रह्म मुहूर्त में घर की स्त्रियाँ घर के कोने कोने में कुछ खट खट करते हुए यह कहे की हे अलक्ष्मी ! अब आप इस घर से चली जाओ क्योंकि यहाँ पर माँ लक्ष्मी का निवास हो गया है ऐसा करने से उस घर में दिनों दिन लक्ष्मी का भंडार बढ़ता है।

?दीपावली के दिन विष्णु सहस्त्रनाम,लक्ष्मी सूक्त का पाठ अवश्य करें और अगर हो सके तो इनके कैसेट अवश्य चलायें।

?लक्ष्मी पूजन के समय ११ कौड़ियों को गंगाजल से धोकर लक्ष्मी जी को अर्पण करें और उन पर हल्दी कुमकुम लगायें।अगले दिन इन्हें लाल कपडे में बंधकर तिजोरी में रख दें इससे आय में निश्चित वृद्धि होती है।
तंत्र शास्त्र में गोमती चक्र को बहुत ही शक्तिशाली माना जाता है। दीपावली की रात में 9 गोमती चक्र लेकर उसे भी पूजा में रखे फिर अगले दिन इन्हें भी अपनी तिजोरी में लाल या पीले वस्त्र में लपेट कर रख दें फिर देखे आपका भाग्य कैसे आपका साथ देने लगता है?

?दीवाली के दिन एक नयी झाड़ू खरीद लायें पूजा से पहले उससे थोड़ी सी सफाई करें फिर उसे एक तरफ रख दें अगले दिन से उसका प्रयोग करें इससे दरिद्रता दूर भागेगी ओर लक्ष्मी का आगमन होगा।

?पूजा में माँ लक्ष्मी के चरणों में एक लाल तथा एक सफेद हकिक पत्थर रखें दोनों के योग से चन्द्र मंगल लक्ष्मी योग बनता है,पूजा के बाद इन्हें अपने पर्स में रख लें।

?दीपावली में लक्ष्मी जी की पूजा में श्री यंत्र, कुबेर यंत्र, व्यापार वृद्धि यंत्र, वीसा यंत्र,दक्षिणवर्ती शंख,एकाक्षी नारियल,हत्था जोड़ी आदि भी रखकर उनकी भी पूजा करनी चाहिए।जिस घर में यह शुभ यंत्र,धनदायक वस्तुएं रहती है उस घर के सदस्यों को धन की कोई भी कमी नहीं रहती है,अगर जातक की कुंडली में निर्धनता लिखी हो तो वह भी बदल जाती है।

Indore Dil Se - Vastu

पंडित “विशाल” दयानन्द शास्त्री,
(ज्योतिष-वास्तु सलाहकार)
राष्ट्रीय महासचिव-भगवान परशुराम राष्ट्रीय पंडित परिषद्

?दीपावली पर सांयकाल पीपल के पेड़ के नीचे तेल का दीपक जलाकर पीपल को प्रणाम करके अपनी मनोकामना कहे, माँ लक्ष्मी का भी ध्यान करें फिर लौट जाएँ और पीछे मुड़कर ना देखे।आपको अवश्य ही माँ लक्ष्मी का आशीर्वाद प्राप्त होगा।यह प्रयोग बिल्कुल चुपचाप करें।

?दीपावली के दिन घर के मुख्य द्वार पर कुमकुम से स्वस्तिक बनायें और बासमती चावल की ढेरी बनाकर उस पर एक सुपारी में कलावा बांधकर रख दें,यह धन प्राप्ति का अचूक प्रयोग है।

?दीपावलीके दिन अमावस्या होती है अतः अपने पूर्वजो को अवश्य याद करें,प्रातः उनका तर्पण करें और किसी वृद्ध और गरीब व्यक्ति को भोजन कराएँ या यथा शक्ति दान दें,ऐसा करने से उस व्यक्ति को अपने पित्तरों का आशीर्वाद मिलता है और घर में सुख शांति बनी रहती है।

?यदि बहुत प्रयास करने पर भी किसी व्यक्ति को मकान का सुख नहीं प्राप्त हो रहा है,तो वह दीपावली को किसी भूखे को भगवान समझ कर उसे प्रेम पूर्वक भोजन कराएँ और थोडा गुड खरीद कर गाय को खिला दें।उसके बाद प्रत्येक शुक्रवार को नियम से भूखे व्यक्ति को भोजन और रविवार को गाय को गुड खिलाएं।१ वर्ष तक ऐसा करें आपकी वर्षों की अभिलाषा कैसे पूरी होगी यह आपको भी पता नहीं चलेगा।

?यदि आपको यह अनुभव होता है की आपके व्यापार या नौकरी में उन्नति नहीं हो रही है तो दीपावली की रात्रि में कच्चा सूत लेकर उसे शुद्ध केसर से रंगकर भाई दूज के दिन माँ लक्ष्मी का स्मरण करते हुए अपने व्यापारिक स्थल में बांध दें,इस प्रयोग से व्यापर में निश्चित ही उन्नति होती है।नौकरी वाले इसे अपनी टेबिल,अलमारी,ड्रार कहीं भी बांध सकते है।

?दीपावली को सुबह समय अगर गन्ने की जड़ को नमस्कार करके घर में लाये और रात्रि में लक्ष्मी पूजन के समय उसकी भी पूजा करें,तो ऐसा करने से घर में अटूट लक्ष्मी का वास होता है।

?दीपावली की रात्रि में व्यापारिक स्थल में पूजा करने जाते समय शुद्ध केसर मिली मीठी दही खाकर घर से प्रस्थान करें और उसके बाद माँ लक्ष्मी का पूजन करें तो उस व्यापार में बरकत रहती है।
दीपावली के दिन में पाँच पीपल के पत्तों को तोड़कर घर में ले आयें,रात्रि में लक्ष्मी पूजन के बाद उन पत्तों पर पनीर,दूध से बना कोई भी मिष्टान रख कर उसे पीपल के पेड़ को अर्पित कर दें और अपनी इच्छा बोल दें,कार्यों में सफलता मिलने लगेगी।

?दीपावली के दिन माँ लक्ष्मी की पूजा के समय माँ को सुगन्धित इत्र और केसर जरुर अर्पित करें,अगले दिन से पूरे वर्ष इस केसर का तिलक और इत्र लगाकर काम पर जाने से आर्थिक सफलता मिलती है।

इस धरती पर हर जातक धन और ऐश्वर्य की चाह रखता है,और इसके लिए कड़ी मेहनत के साथ साथ तरह तरह के उपाय भी करता है।माँ लक्ष्मी को धन की देवी कहा जाता है।कहते है कि माँ लक्ष्मी की आराधना से जीवन में किसी भी भौतिक सुख सुविधा की कमी नहीं रहती है। दीवाली पर माँ लक्ष्मी की पूजा आराधना का अत्यंत महत्व है।ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इस दिन माँ लक्ष्मी की पूजा करने से घर में स्थाई सुख समृद्धि और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है।शास्त्रो के अनुसार दीपावली के दिन किये गए लक्ष्मी प्राप्ति के उपायों से अति शीघ्र…

Review Overview

User Rating: 0.7 ( 1 votes)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Translate »