गड्डो मे उलझा लोगो का जन जीवन

विदिशा – लटेरी (विनोद सूर्यवंशरी) : नगरपालिका की लापरवाही लगातार देखने को मिल रही है। शहर की सडको मे बने गड्डो से लोग परेशान है। लेकिन नगरपालिका के अधिकारीयो के आंखो पर जो काली पट्टी बांधी है वो उतर नही रही है। वही शहर मे फेले अतिक्रमण से भी लोगो परेशान है शायद नगरपालिका के बाजूओ मे इतना दम नही की शहर को अतिक्रमण से मुफ्त कर सके।

यात्री प्रतिक्षलय मे लोगो का बैठना हुआ मुश्किल
अब बात करते है। शहर के एकलौते बस स्टेण्ट की जी हां बस स्टेण्ड का महौल देखकर लगता नही की यहा नगरपालिका है। बस स्टेण्ड की सडक के गड्डे कभी भी हादसे से की बजह बन सकते है। बही यात्री प्रतिक्षलय का यह हाल है की लोग बैठना पंसद नही करते कारण यात्री प्रतिक्षलय मे इंसान कम जानवर ज्यादा आराम फरमाते है। वही यात्री प्रतिक्षयल रोज शाम को वियर वार बन जाता है। इतना ही नही छत से बरसात मे पानी टपकने के कारण लोगो होटलो पर सर छुपते नजर आते है ।

विदिशा - लटेरी (विनोद सूर्यवंशरी) : नगरपालिका की लापरवाही लगातार देखने को मिल रही है। शहर की सडको मे बने गड्डो से लोग परेशान है। लेकिन नगरपालिका के अधिकारीयो के आंखो पर जो काली पट्टी बांधी है वो उतर नही रही है। वही शहर मे फेले अतिक्रमण से भी लोगो परेशान है शायद नगरपालिका के बाजूओ मे इतना दम नही की शहर को अतिक्रमण से मुफ्त कर सके। यात्री प्रतिक्षलय मे लोगो का बैठना हुआ मुश्किल अब बात करते है। शहर के एकलौते बस स्टेण्ट की जी हां बस स्टेण्ड का महौल देखकर लगता नही की यहा नगरपालिका है। बस…

Review Overview

User Rating: Be the first one !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Translate »