महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए परविहन विभाग दे रहा ड्राइविंग प्रशिक्षण

आत्मनिर्भर बनाने के लिए परविहन विभाग महिलाओं को निःशुल्क ड्राइविंग प्रशिक्षण दे रहा है। इसके अलावा उन्हें लाइट व्हीकल का लायसेंस देने के साथ ही उन्हें ई-रिक्शा भी उपलब्ध करवा रहा है। तीन बैच की सफलतापूर्वक ट्रेनिंग के बाद चौथे सत्र का शुभारंभ शुक्रवार को कर दिया गया है। नंदा नगर के ड्राइविंग स्कूल में ये महिलाएं प्रशिक्षण ले रही हैं।

32 महिलाओं के साथ ड्राइविंग ट्रेनिंग का चौथा सत्र शुरू
नंदानगर स्थित ड्राइविंग ट्रेनिंग संस्थान में महिलाओं को ड्राइविंग प्रशिक्षण देने का चौथा सत्र शुरू हो गया है। एक माह की इस ट्रेनिंग में 32 महिलाओं का चयन किया गया है। एआरटीओ अर्चना मिश्रा ने बताया कि महिलाओं को वाहन चालन के प्रशिक्षण का कार्यक्रम प्रदेश में पहली बार इंदौर में शुरू किया गया है। प्रशिक्षण लेने वाली महिलाओं को ड्राइविंग के साथ आत्म सुरक्षा के गुर भी सिखाए जाते हैं। उन्होंने बताया कि इस बार 400 से अधिक महिलाओं के आवेदन आए थे। जिसकी स्क्रूटनी कर संस्थान की क्षमता के अनुसार 32 महिलाओं का चयन किया गया है।

126 महिलाएं ले चुकीं प्रशिक्षण
एआरटीओ अर्चना मिश्रा ने बताया कि अब तक 126 महिलाएं वाहन चालन का प्रशिक्षण ले चुकी हैं। इन महिलाओं में से कुछ ने ई-रिक्शा चलाने में रुचि दिखाई थी। उन महिलाओं को एक एनजीओ के माध्यम से ई-रिक्शा का डाउन पेमेंट उलब्ध करवाया गया और अब वो ई-रिक्शा चलाकर अपने परिवार का पालन कर रही हैं।

लेखक :- विवेक राठौर

Review Overview

User Rating: Be the first one !

: यह भी पढ़े :

मध्यप्रदेश को मिले 8 राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार

राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार में छाया मध्यप्रदेश, मिले 8 पुरस्कार। स्वच्छता में लगातार पांच बार नंबर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »