IDS Live

मालवा उत्सव 25 मई से लालबाग पर

@ इंदौर गौरव दिवस के तहत होगे आयोजन
@ जनजातीय नृत्य और लोक कला को समर्पित होगा यह उत्सव
@ देश भर से जुटेगे लोक कलाकार व शिल्पकार
@ अंतर्राष्ट्रीय शिल्पकार  भी होंगे मालवा उत्सव में

इंदौर : लोक संस्कृति मंच द्वारा देश का प्रतिष्ठित लोकोत्सव मालवा उत्सव 25 मई से लालबाग परिसर में आयोजित होने जा रहा है इस वर्ष का यह आयोजन इंदौर गौरव दिवस के अंतर्गत आयोजित होगा उत्सव जनजाति नृत्य व जनजाति लोक कला को समर्पित होगा।

लोक संस्कृति मंच के संयोजक एवं इंदौर के लोकप्रिय सांसद शंकर लालवानी ने बताया कि मालवा उत्सव ने देश व प्रदेश के साथ विश्व पटल पर मालवा की लोक कला एवं संस्कृति को पहुंचाया है। देश व प्रदेश में इंदौर को लोक कला के महत्वपूर्ण केंद्र का दर्जा दिलाया है। साथ ही लोक कलाकारों एवं लोक शिल्पकार ओ को एक बेहतर मंच उपलब्ध कराया है। 25 मई से 31 मई तक मालवा उत्सव का आयोजन लालबाग परिसर में किया जा रहा है जिसमें देशभर के विभिन्न राज्यों के 450 से अधिक लोक कलाकार एवं 300 शिल्पकार इस आयोजन में भाग लेंगे।

जनजातीय नृत्यो को समर्पित होगा यह उत्सव
लोक संस्कृति मंच के सचिव दीपक लंवगड़े ने बताया कि इस वर्ष यह उत्सव इंदौर गौरव दिवस के तहत  जनजाति नृत्यो के साथ जनजाति शिल्प कला को भी समर्पित होगा। जिस तरह प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आह्वान किया कि जनजाति समाज के गौरव को स्थापित करना हम सभी का दायित्व है। जनजाति समूह के लिए लालबाग पर एक अलग ही झोन निर्मित किया गया है जिसमें जनजाति समूह के शिल्प एवं शिल्पकार दोनों ही मौजूद रहेंगे। जनजाति समूह गौंड, कर्मा, आदिवासी, बरेदी, कोरकु आदि के द्वारा किए जाने वाले लोकलुभावन नृत्यों की प्रस्तुतियां प्रतिदिन लालबाग परिसर पर देखने को मिलेगी मालवा उत्सव में उत्तर से लेकर दक्षिण और पूर्व से लेकर पश्चिम तक संपूर्ण भारत के कलाकारों व शिल्पकारों का संगम देखने को मिलता है। मंच पर मालवा की संस्कृति भी अपना रंग बिखेरेगी।

कोविड वैक्सीनेशन का रखा जाएगा ध्यान
मंच के विशाल गिदवानी ने बताया की भाग लेने वाले सभी कलाकारों का वैक्सीनेशन पूर्ण होना अनिवार्य होगा तथा मंच के सभी कार्यकर्ता भी वैक्सीनेटेड होंगे। जिन व्यक्तियों वैक्सीनेशन नहीं हुआ है उन्हें मेले में प्रवेश करने से पहले वैक्सीनेशन करवाना अनिवार्य होगा।

शिल्प मेले में आएंगे 300 से अधिक शिल्पी
लोक संस्कृति मंच के कार्यालय प्रभारी सतीश शर्मा ने बताया कि इस वर्ष जनजाति कला के साथ देशभर की कला प्रदर्शित करने लगभग 300 शिल्पकार इस उत्सव में अपनी कलाकृतियां लेकर आएंगे उत्तर प्रदेश हरियाणा राजस्थान उड़ीसा अरुणाचल प्रदेश नागालैंड मिजोरम आसाम आंध्र प्रदेश छत्तीसगढ़ पंजाब उत्तरांचल हिमाचल के कलाकार अपनी कला की छटा यहां बिखेरेगे शिल्प मेले में मिट्टी शिल्प, गलीचा शिल्प, टेराकोटा, ड्राई फ्लावर, केन फर्नीचर, कपड़ा शिल्प, पीतल शिल्प, लौह शिल्प प्रमुख रूप से उपलब्ध रहेंगे।

अंतर्राष्ट्रीय शिल्पकार आएंगे
मंच के रितेश पाटनी एवं कमल गोस्वामी ने बताया कि इस वर्ष इंदौर गौरव दिवस के तहत मालवा उत्सव में अंतर्राष्ट्रीय शिल्पकार अपना-अपना शिल्प लेकर आएंगे नेपाल, लेबनान, सीरिया, बांग्लादेश, भूटान सहित कई देशों के शिल्पकार मालवा उत्सव में रहेंगे।

मालवीय व्यंजनों का मिलेगा स्वाद
मंच के पवन शर्मा एवं नितिन तापड़िया ने बताया कि मालवा उत्सव में प्रतिवर्ष अनुसार मालवीय व्यंजनों के स्वाद के साथ गुजराती, दक्षिण भारतीय, राजस्थानी, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, पंजाब सहित देश के विभिन्न राज्यों के पारंपरिक व्यंजनों का स्वाद यहां चखने को मिलेगा साथ ही विशेष रुप से साउथ इंडियन डिशेज भी यहां मिलेगी। बच्चों के मनोरंजन के लिए विभिन्न प्रकार के झूले एवं प्ले जोन भी यहां उपलब्ध होंगे।

Review Overview

User Rating: 3.28 ( 1 votes)

: यह भी पढ़े :

IDS Live

लोक कल्याणकारी पत्रकार थे देवर्षि नारद

इंदौर : देवर्षि नारद ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार थे। हमने नारद के चरित्र का हमेशा …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »