मध्यप्रदेश को मिले 8 राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार

राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार में छाया मध्यप्रदेश, मिले 8 पुरस्कार। स्वच्छता में लगातार पांच बार नंबर वन बनने वाले इंदौर के नाम एक और उपलब्धि जुड़ गई है। विश्व पर्यटन दिवस पर मंगलवार को दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित कार्यक्रम में इंदौर को भारत में पर्यटन स्थल के नागरिक प्रबंधन के लिए राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार से नवाजा गया है। इंदौर के महापौर पुष्यमित्र भार्गव और मप्र शासन में संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर ने उप राष्ट्रपति जगदीप धनखड़ के हाथों पुरस्कार प्राप्त किया।

राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार 2018-19 में एक बार फिर मध्यप्रदेश का परचम लहराया है। विश्व पर्यटन दिवस के माैके पर मंगलवार को दिल्ली में केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय ने मध्यप्रदेश को 8 विभिन्न श्रेणियों में राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार दिए। देश के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर को बेस्ट कॉर्पोरेशन का अवॉर्ड मिला है। उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़, केंद्रीय पर्यटन मंत्री जी. किशन रेड्डी और केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री अजय भट्ट ने मप्र की पर्यटन व संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर को अवॉर्ड सौंपे।

मध्यप्रदेश को मिले 8 राष्ट्रीय पर्यटन पुरस्कार

  1. “सिविक मैनेजमेंट ऑफ ए टूरिस्ट डेस्टिनेशन इन इंडिया” (कैटेगरी ए) के लिए देश के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर को पुरस्कार मिला है। इस कैटेगरी में प्रदेश को अब तक 7 अवॉर्ड मिल चुके है। 2010-11 और 2011-12 में मांडू, 2012-13 में पचमढ़ी, 2013-14 में महेश्वर, 2015-16 में खरगोन (कैटेगरी बी) और 2016-17 में ओंकारेश्वर (कैटेगरी बी) सम्मानित हो चुके है।
  2. “स्वच्छ पर्यटन स्थान – वेस्टर्न रीजन” की श्रेणी में पहली बार पुरुस्कार नगर निगम उज्जैन को मिला है।
  3. “बेस्ट मेन्टेंड एंड डिसेबल्ड फ्रेंडली मॉन्यूमेंट” के लिए शिव मंदिर, भोजपुर को अवॉर्ड मिला है। इसके पहले 2017-18 में सांची स्तूप, 2014-15 में अमरकंटक मंदिर और 2013-14 में शिव मंदिर भोजपुर के लिए प्रदेश को यह सम्मान मिल चुका है।
  4. “बेस्ट एयरपोर्ट – रेस्ट ऑफ इंडिया” के लिए देवी अहिल्या बाई एयरपोर्ट, इंदौर को लगातार तीसरी बार यह सम्मान मिला है।
  5. “एक्सलेंस इन पब्लिशिंग – हिंदी” कैटेगरी के लिए मालवा के भित्ति चित्र को अवॉर्ड मिला है। इसके पहले 2015-16 में सिंहस्थ ब्रोशर के लिए यह सम्मान दिया गया था।
  6. “बेस्ट टूरिज्म प्रमोशन पब्लिसिटी मटेरियल” के लिए भोपाल ब्रोशर को यह अवॉर्ड मिला है। इसके पहले 2017-18 में लोनली प्लेनेट पॉकेट बुक्स और 2010-11 में एमपीएसटीडीसी के कॉर्पोरेट ब्रोशर के लिए यह सम्मान मिला है।
  7. “बेस्ट वाइल्डलाइफ गाइड, वेस्टर्न – सेंट्रल” के लिए पेंच टाइगर रिजर्व के गाइड श्री सुभाष भावरे को अवॉर्ड मिला है। 2017-18 में पन्ना से श्री मनोज कुमार द्विवेदी, 2016-17 में पन्ना से राधिका प्रसाद ओमरे और 2015-16 में सतपुड़ा से सईब खान को यह अवॉर्ड मिल चुका है।
  8. “इंक्रेडिबल इंडिया बेड एंड ब्रेकफास्ट एस्टेब्लिशमेंट्स अप्रूव्ड बाय स्टेट गर्वमेंट” के लिए मडला जिले के कान्हा नेशनल पार्क स्थित गांव पटपरा के होमस्टे “कोटयार्ड हाउस” को अवॉर्ड मिला है।

प्रदेश को “स्वच्छ पर्यटन स्थान – वेस्टर्न रीजन” (उज्जैन) और “इंक्रेडिबल इंडिया बेड एंड ब्रेकफास्ट एस्टेब्लिशमेंट अप्रूव्ड बाय स्टेट गर्वमेंट” (कोटयार्ड हाउस “होमस्टे”, मडला) कैटेगरी में पहली बार अवॉर्ड मिले है। “बेस्ट वाइल्डलाइफ गाइड” के लिए लगातार चौथी बार मध्यप्रदेश के गाइड सम्मानित हुए है।

राष्ट्रीय पुरुस्कार मिलना गौरवशाली पल – मंत्री उषा ठाकुर
मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि पर्यटन मंत्रालय भारत सरकार से मध्यप्रदेश को अवार्ड मिलना गौरवशाली पल है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मार्गदर्शन में प्रदेश ने पर्यटन में नित नए नवाचार किए है जो आगे भी जारी रहेंगे। यह पुरस्कार पर्यटन विभाग के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों की मेहनत का फल है।

पर्यटन पुरुस्कार प्रेरणा का कार्य करेगा – प्रमुख सचिव शुक्ला
प्रमुख सचिव शिव शेखर शुक्ला ने कहा कि राष्ट्रीय पर्यटन पुरुस्कार, मध्यप्रदेश के लिए प्रेरणा का कार्य करेगा। विश्व पर्यटन दिवस 2022 की थीम ‘री थिंकिंग टूरिज्म’ पर प्रदेश में पहले से ही कार्य करना शुरू कर दिया गया है। स्थानीय समुदाय को पर्यटन में सहभागी बनाते हुए सबका सहयोग और सबका विकास की अवधारणा के साथ प्रदेश में पर्यटन सुविधाओं और सेवाओं का विस्तार किया जा रहा है।

पर्यटन के क्षेत्र में मध्यप्रदेश को आठ पुरस्कार मिलना गौरवशाली उपलब्धि – मंत्री सिलावट ने पर्यटन मंत्री ठाकुर को दी बधाई
जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट ने आज पर्यटन के क्षेत्र में मध्यप्रदेश को विभिन्न श्रेणियों में राष्ट्रीय स्तर के आठ पुरस्कार मिलने को गौरवशाली उपलब्धि बताया है। उन्होंने इसके लिये पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर को बधाई दी। मंत्री सिलावट ने कहा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कुशल नेतृत्व में मध्यप्रदेश में पर्यटन के क्षेत्र में लगातार उपलब्धियां हासिल हो रही हैं। उन्होंने ‘सिविक मैनेजमेंट ऑफ ए टूरिस्ट डेस्टिनेशन इन इंडिया’ (कैटेगरी ए) में इंदौर को पुरस्कार मिलने पर सभी संबंधितों को बधाई दी।मंत्री सिलावट ने कहा कि उक्त पुरस्कार मिलना सभी संबंधितों की अपने कर्तव्यों के प्रति मेहनत, लगनशीलता और कर्मठता का परिचय है।

IDS Live

Related Posts

इंदौर के इतिहास में पहली बार कांग्रेस प्रत्याशी ने चुनाव मैदान छोड़ा

कैसे हो गया इंदौर में ‘बम’ विस्फोट किसी को भनक नहीं लगी ! राम के नारों पर आपत्ति और कैलाश की सक्रियता कांग्रेस को ले डुबी ! लोकसभा सीट से…

मध्य प्रदेश में बना दुनिया का सबसे ऊंचा जैन मंदिर

मध्य प्रदेश के दमोह जिले के कुण्डलपुर में जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर भगवान आदिनाथ का दुनिया का सबसे उंचे मंदिर का बन चुका है। कुण्डलपुर में बन रहे इस…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Missed

सेक्स के अलावा भी कंडोम का उपयोग है?

सेक्स के अलावा भी कंडोम का उपयोग है?

शीघ्रपतन से छुटकारा, अपनाएं ये घरेलु उपाय

शीघ्रपतन से छुटकारा, अपनाएं ये घरेलु उपाय

सेक्स के लिए बाहर क्यूं मुंह मारते है पुरुष ?

सेक्स के लिए बाहर क्यूं मुंह मारते है पुरुष ?

गर्भनिरोधक गोलियों के बिना भी कैसे बचें अनचाही प्रेग्नेंसी से ?

गर्भनिरोधक गोलियों के बिना भी कैसे बचें अनचाही प्रेग्नेंसी से ?

कुछ ही मिनटों में योनि कैसे टाइट करें !

कुछ ही मिनटों में योनि कैसे टाइट करें !

दिनभर ब्रा पहने रहने के ये साइड-इफेक्ट

दिनभर ब्रा पहने रहने के ये साइड-इफेक्ट