Festival

मिलावटी मिठाइयों से सावधान !

Indore Dil Se - Artical

त्यौहार के दिनों मे बाज़ार में नक़ली मावे और पनीर से बनी मिठाइयों का कारोबार ज़ोर पकड़ लेता है. आए-दिन छापामारी की ख़बरें सुनने को मिलती हैं कि फ़लां जगह इतना नक़ली या मिलावटी मावा पकड़ा गया, फ़लां जगह इतना. इन मामलों में केस भी दर्ज होते हैं, गिरफ़्तारियां भी होती हैं और दोषियों को सज़ा भी होती है. इस ...

Read More »

सजेधजे सराफा की रौनक से चमके दुकानदारों के चेहरे

Indore Dil Se - Artical

ये जो फोटो आप देख रहे हैं किसी शादी-सम्मेलन में सजावट का नहीं है। ये सौ साल पूरे कर चुके सराफा बाजार का है। दो-तीन महीने पहले तक समोसा कार्नर से सराफा चौक (भेरू बाबा मंदिर) तक दो पहिया वाहन से जाने पर भी दस बार सोचना पड़ता था क्योंकि वाहनों की रेलमपेल ऐसी रहती थी कि गाड़ी लगभग रेंगते ...

Read More »

भारत के पांच प्रसिद्ध एवं अनोखे दशहरे!

Indore Dil Se - IDS Live

दशहरा जिसे विजयदशमी या आयुध पूजा भी कहा जाता है भारत का प्रमुख त्योहार है जिसे भारत के हर कोने में बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है । इसी दिन भगवान् राम ने रावण का वध कर के विजय प्राप्त की थी तथा देवी दुर्गा माँ ने नौ रात्रि एवं दस दिन के युद्ध के बाद महिषासुर पर विजय ...

Read More »

सूर्य उपासना का पर्व है मकर संक्रांति

Indore Dil Se - Everything About India

भारत में समय-समय पर अनेक त्यौहार मनाए जाते हैं. इसलिए भारत को त्योहारों का देश कहना गलत न होगा. कई त्योहारों का संबंध ऋतुओं से भी है. ऐसा ही एक पर्व है . मकर संक्रान्ति. मकर संक्रान्ति पूरे भारत में अलग-अलग रूपों में मनाया जाता है. पौष मास में जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है तब इस त्यौहार ...

Read More »

श्री गणपति आदर्शों के संस्थापक हैं

Indore Dil Se - Artical

भारतीय संस्कृति आदर्शों की संस्कृति है। हमारी संस्कृति में श्री राम, श्री कृष्ण के आदर्शों को हम व्यवहार में लाते हैं। साथ ही अन्य देवी-देवताओं की उपासना करते हैं। उसके पीछे भी यही उद्देश्य होता है कि उनके गुणों को उनके आदर्शों को हम आत्मसात करें। श्री गणेश भी ऐसे ही देव हैं, जिनके स्वरूप, आयुध मुद्रा आदि के द्वारा ...

Read More »

हम रंगपंचमी क्यों मनाते हैं ?

त्रेता युग के प्रारंभ में श्री विष्णु ने धूलि वंदन किया, इसका अर्थ यह है कि ‘उस युग में श्री विष्णु ने अलग-अलग तेजोमय रंगों से अवतार कार्य का आरंभ किया। त्रेता युग में अवतार निर्मित होने पर उसे तेजोमय, अर्थात विविध रंगों की सहायता से दर्शन रूप में वर्णित किया गया है। होली ब्रह्मांड का एक तेजोत्सव है। तेजोत्सव ...

Read More »

51 हजार दीपो से माँ गंगा आरती

चंदौली [ IDS ] देव दीपावली के अवसर पर वाल्मीकि की भूमि एवं पश्चिम वाहिनी माँ गंगा के तट पर गंगा आरती का आयोजन हुआ । वही 51 हजार दीपो से माँ गंगा के घाटो को सजाया गया ।गंगा सेवा समिति द्वारा गंगा तट पर गंगा आरती का आयोजन किया गया । आरती के समाप्त होते ही पूरा वातावरण माँ गंगा ...

Read More »

महाकालेश्वर के दरबार में दिवाली मनाई गई

उज्जैन (IDS) मध्य प्रदेश के उज्जैन में स्थित प्रमुख ज्योतिर्लिगों में से एक महाकालेश्वर के दरबार में गुरुवार तड़के दिवाली मनाई गई। महाकाल का विशेष श्रृंगार किया गया और जम कर आतिशबाजी हुई। मंदिर के पुजारी आशीष ने बताया कि दीप और रौशनी का त्योहार दिवाली सबसे पहले महाकाल के दरबार में मनाया जाता है, उसके बाद यहां दिवाली मनाने की शुरुआत ...

Read More »

हर दिल में बसती है मैहर की माँ शारदा

मैहर की माता शारदा देश का दिल कहलाने वाले मध्यप्रदेश में चित्रकूट के समीप सतना जिले की मैहर शहर में 600 फुट की ऊंचाई पर त्रिकुटा पहाड़ी पर मां दुर्गा के शारदीय रूप श्रद्धेय देवी माँ शारदा का मंदिर है, जो मैहर देवी मंदिर के नाम से प्रसिद्ध हैं। यह हिन्दुओं का महत्वपूर्ण धार्मिक एवं आस्थावान स्थान है। यहां श्रद्धालुजन ...

Read More »

गणेशजी को बांधी गई देश की सबसे बड़ी राखी

इंदौर (IDS) खजराना गणेशजी को राखी के दिन पांच किलो वजनी एवं पचास इंच लंबी-चौड़ी राखी बांधी गई । तिरूपति बालाजी पर केंद्रित इस राखी में पचास हजार सितारे लगाए गए थे । चालीस साल से बजाजखाना के व्यापारी पारलेचा का परिवार गणेशजी को राखी बांधने का काम कर रहा है। पहले यह छोटे स्तर पर होता था, पर कुछ वर्षों ...

Read More »
Translate »