काशीवासियों ने निकाली ऐतिहासिक मतदान संकल्प यात्रा

वाराणसी । लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के मद्देनजर मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए प्रत्येक स्तर पर पुरजोर प्रयास किए जा रहे हैं। इसी क्रम में बुधवार को वाराणसी में क्रांतिकारी परिवारों, संत समाज और मातृशक्ति के नेतृत्व में मतदान संकल्प यात्रा निकाली गई। वीर सावरकर के वंशज सात्यकी सावरकर और शहीद उधम सिंह के वंशज उजागर सिंह भी इस यात्रा में शामिल हुए। शाम 5 बजे लक्सा में खाटू श्याम मंदिर से यात्रा प्रारंभ हुई और गौदोलिया, बांसफाटक होते हुए लगभग 8 बजे मैदागिन स्थित पाताल भूमि हनुमान मंदिर पर समाप्त हुई। काशी की विरासत और विकास को दर्शाती एक दर्जन से अधिक भव्य झांकियों से मानो किसी शोभायात्रा का दृश्य उपस्थित हो रहा था। यात्रा में डमरू दल, गाजे- बाजे, ढोल-नगाड़ों के साथ मतदान के लिए प्रेरित करते हुए गीत और नारे गूंजते रहे। यात्रा में सर्व समाज के प्रबुद्ध जन, व्यापार मंडल और पद्म पुरस्कारों से सम्मानित हस्तियां शामिल हुईं।

लगभग 10 हजार लोग इस यात्रा में शामिल हुए। यात्रा इतनी लंबी थी कि एक सिरे से दूसरे सिरे तक लगभग दो किलोमीटर का काफिला बन गया, जिसे पूरी तरह सिर्फ ड्रोन से ही देखा जा सकता था। सबसे आगे काशी सर्व समाज के प्रतिनिधियों के साथ यात्रा के संयोजक विधायक गोपाल शर्मा पैदल चल रहे थे। उनके साथ बड़ी संख्या में महिलाएं थीं, जो हाथों में अधिकतम मतदान की अपील वाली तख्तियां लिए हुए थीं। वहीं वैदिक मंत्रोच्चार करते 151 विद्वानों की टोली और पुलिस बैंड का दल भी साथ था। इसके बाद आकर्षक फूलों और लाइट्स से सुसज्जित भारत माता, काल भैरव, काशी विश्वनाथ और संकट मोचन हनुमान के रथ थे। इसके बाद श्री राम झांकी बनाई गई थी, जिसमें भगवान राम, माता सीता, हनुमान जी और लगभग दो दर्जन वानर साथ चल रहे थे। काशी की विश्व प्रसिद्ध अघोरी होली के दृश्य भी दिखाए जा रहे थे। इसके साथ ही खाटू श्याम और दुर्गा माता के रथ भी निकाले गए। झांकियों और रथों के बीच में जगह-जगह पर कहीं पंजाबी ढोल वालों का ग्रुप था तो कहीं नगाड़ा बैंड तो कहीं डमरू टीम और कहीं शहनाई कलाकार माहौल को ऊर्जावान बनाए रखने का काम कर रहे थे। लगभग 50 की संख्या में ऑटो और ई-रिक्शा भी साथ चल रहे थे, जिन पर मतदाता जागरूकता से जुड़े बैनर लगे हुए थे और वे लाउडस्पीकर के जरिए अधिकतम मतदान की अपील कर रहे थे।

मतदान संकल्प यात्रा का जगह-जगह भव्य तरीके से स्वागत किया गया। अनेक स्थानों पर मंच लगाकर यात्रा में चले रहे काशीवासियों पर पुष्पवर्षा की गई। कई जगहों पर बड़ी संख्या में जुटी महिलाओं ने यात्रा का स्वागत किया और यात्रियों को तिलक लगाकर स्नेहिल आशीर्वाद दिया। यात्रा के मार्ग पर जगह-जगह झंडे, मतदाता जागृति के लिए पोस्टर्स, बैनर लगाए गए थे। जिधर से भी यात्रा गुजरी, लोग हर हर महादेव और जय श्री राम के नारे लगाकर अभिवादन करते नजर आए।

इस यात्रा के संयोजक गोपाल शर्मा जयपुर के सिविल लाइंस से विधायक हैं। वे लगभग एक महीने से वाराणसी प्रवास पर हैं और मतदाता जागरूकता से जुड़े आयोजन कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि इससे पहले शर्मा के नेतृत्व में गत 25 मई को दशाश्वमेध घाट पर विराट सामूहिक हनुमान चालीसा का आयोजन किया गया था, जिसमें लगभग एक लाख लोगों ने अधिकतम मतदान का संकल्प लिया।

IDS Live

Related Posts

इस सरप्राइज से तो खुद मध्य प्रदेश भी चौंक गया

जाते हुए साल में ऐसा सरप्राइज मिलेगा इसकी कल्पना तो खुद मध्य प्रदेश ने भी नहीं की थी, लेकिन मोहन यादव के हाथों में कमान सौंपकर केंद्रीय नेतृत्व ने संकेत…

दो डिप्टी सीएम बने तो विजयवर्गीय और पटेल नाम तय

मध्यप्रदेश में पांचवीं बार बन रही भाजपा की सरकार में इंदौर से कितने विधायकों को शामिल किया जाएगा? यह प्रश्न आम इंदौरियों के मन में चुनाव परिणाम घोषित होने के…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Missed

सेक्स के अलावा भी कंडोम का उपयोग है?

सेक्स के अलावा भी कंडोम का उपयोग है?

शीघ्रपतन से छुटकारा, अपनाएं ये घरेलु उपाय

शीघ्रपतन से छुटकारा, अपनाएं ये घरेलु उपाय

सेक्स के लिए बाहर क्यूं मुंह मारते है पुरुष ?

सेक्स के लिए बाहर क्यूं मुंह मारते है पुरुष ?

गर्भनिरोधक गोलियों के बिना भी कैसे बचें अनचाही प्रेग्नेंसी से ?

गर्भनिरोधक गोलियों के बिना भी कैसे बचें अनचाही प्रेग्नेंसी से ?

कुछ ही मिनटों में योनि कैसे टाइट करें !

कुछ ही मिनटों में योनि कैसे टाइट करें !

दिनभर ब्रा पहने रहने के ये साइड-इफेक्ट

दिनभर ब्रा पहने रहने के ये साइड-इफेक्ट