Editorial / Article

कौन है, कहाँ है, मेरा पहला प्यार

पला जिसके गर्भ में, गर्भ के अंदर से ही जिसे प्यार करता था मैं वो है मेरी माँ एक विशिष्ट और अबूझ बंधन होता है माँ और उसके बच्चों के बीच जो कि स्वाभाविक रूप से  प्रकृतिक होकर कभी ना समाप्त होने वाला होता है । माँ की ममता की तुलना संसार की किसी और भावना से की ही नही ...

Read More »

महावीर विक्रम बजरंगी

कहा जाता है कि मित्रता से बढ़कर और कोई रिश्ता नही होता और हनुमान से बढ़कर कोई और मित्र नही होता, सम्पूर्ण विश्व साहित्य में हनुमान के समकक्ष कोई और पात्र दिखाई नहीं पड़ता है। हनुमान एक ऐसे चरित्र हैं जो सर्वगुण सम्पन्न हैं। सिर्फ अप्रतिम शारीरिक क्षमता ही नहीं, अलौकिक मानसिक दक्षता तथा अद्भुत चारित्रिक ऊंचाइयों के भी यह ...

Read More »

नारीवादी पुरुष बनाम पुरुषवादी नारियां

आमतौर पर मैं फेमिनिज्म यानी नारीवाद पर बात नहीं करती हूँ, इस वजह से कभी-कभी मुझे पाप भी लग जाता है और लोग मुझे गैर-नारीवादी समझने लगते हैं। गैर-नारीवादी होना पुरुषवादी होने से अलग है। हालाँकि ‘पुरुषवाद’ जैसा कुछ होता भी है या नहीं, इसका मुझे कोई आइडिया नहीं है और मुझे यकीन है कि पुरुषों को भी इस बारे ...

Read More »

पहली ! भाँगप्रेमियों के साथ लूट

महारात्रि पर कल शहर अलग रंग में दिखा ! कल पता नहीं कितने बेशुमार स्थानों पर सैकड़ों टन साबूदाना घन्टों में फुर्र हो गया ! जिधर देखो, उधर खिचड़ी ! असल में प्रसाद ! आजकल इस दिन यानी महाशिवरात्रि पर, सरकारी भांग घोटा स्थलों यानी ठेकों पर भाँगप्रेमियों के साथ लूट होती है ! वहां इस दिन सिर्फ ठंडाई में ...

Read More »

वेलेंटाईन-डे और मानव संस्कृति

एक पुरानी कथा है कि रोमन साम्राज्य का अति महत्वाकांक्षी सम्राट क्लाउडियस गोथिकस द्वितीय एक शक्तिशाली राज्य का अधिपति था और उसे अपना साम्राज्य फैलाने के लिए बड़ी संख्या में सैनिको की आवश्यकता थी लेकिन उसकी सेना को जरूरत अनुसार युवा सैनिक नही मिल पा रहे थे, इसका कारण पता चला कि वो लोग जिनके परिवार है, जिनकी पत्नि और ...

Read More »

लता नहीं वटवृक्ष थीं वो

1974 में लंदन के रॉयल अल्बर्ट हॉल में प्रस्तुति देने वाली वो प्रथम भारतीय थीं। वैसे तो इस महान गायिका को उनके सम्पूर्ण जीवन काल मे अनेकों पुरस्कारों और अलंकारणों से नवाजा गया था लेकिन वो एक ऐसी महान शख्सियत थी जिनके अपने जीवन काल मे ही उनके नाम से अन्य कलाकारो को पुरस्कार दिये जाते थे। लताजी ने 36 ...

Read More »

लता मंगेशकर को भावपूर्ण श्रद्धांजलि

देवी अहिल्या कि इस इंदौर नगरी की और से इंदौर की बेटी व अमर गायिका, भारत रत्न, स्वर कोकिला, सर्वाधिक गाने का  विश्व रिकॉर्ड बनाने वाली महान शख्सियत, विश्व धरोहर, स्वर्गीय लता मंगेशकर को भावपूर्ण श्रद्धांजलि। मुंबई। इंदौर मे जन्म लेकर मध्यप्रदेश को धन्य करने वाली सुरों की सरस्वती लता दीदी अब हमारे बीच नही रही। लम्बे समय से बीमारी ...

Read More »

हम भारत के लोग!

देश में समानता लाने के चक्कर में ‘अधबीच’ में हम…. “हम भारत के लोग………” ये शब्द सुनते ही सातवी कक्षा में पढ़ी हुई (या पड़ी हुई) नागरिक शास्त्र की क़िताब आँखों में तैर जाती है। जिस प्रकार नेमीषाराण्य तीर्थ में शौनक आदि अट्ठासी हज़ार ऋषियों ने सूतजी से पूछा था, उसी प्रकार हम भी पूछना चाहते थे कि इस शास्त्र ...

Read More »

“चर्च के चबूतरे से चप्पल चोरी”

अपने देश में मंदिरों में चप्पल चोरी की घटनाएं उतनी ही आम हैं जितने कि सड़क में गड्ढे. लेकिन अभी हम गड्ढे की बात नहीं करेंगे, अभी हम सिर्फ़ चोरी की बात करेंगे. एक साथ दो बात करने से बात का फोकस गड़बड़ा जाता है और उस पर संज्ञान लेने की सम्भावनाएं लगभग ख़त्म हो जाती है. हालाँकि हमारी बात ...

Read More »

ये बगावत नही परिवर्तन की आंधी है

श्रीमान यह शहर आपसे बड़े और छोटे पत्रकार की परिभाषा जानना चाहता हैहम सिर्फ इतना जानते है, पत्रकारिता करने वाला बैनर बड़ा और छोटा हो सकता है, पत्रकार कभी बड़ा छोटा नही होता। श्रीमान ज़बान का वज़न बहुत हल्का होता है, पर इससे निकलने वाले शब्द इंसान के किरदार का आइना होते है हम पत्रकार है साहब इंसान के जीवन से ...

Read More »
Translate »
error: Alert: Content is protected !!