Jyotish / Vastu

Rashifal Online in Hindi, Jyotish News, Planets News, Predictions, Horoscope, Astrology, Jyotish in Hindi

क्या होता हैं मुहूर्त और क्यों किया जाता हैं मुहूर्त विचार ?

Indore Dil Se - Jyotis

मुहूर्त वह विचार है जिसके माध्यम से हम जीवन में होने वाले शुभ और मांगलिक कार्यों के शुभारंभ के लिए समय और तिथि का निर्धारण करते हैं। अगर सरल शब्दों में परिभाषित करें तो किसी अच्छे समय का चयन कर किसी कार्य का शुभारंभ ही मुहूर्त कहलाता है। हिंदू वैदिक ज्योतिष विज्ञान के अनुसार हर शुभ और मंगल कार्य को …

Read More »

किस दिशा में बैठकर किस काम को करें ?

Indore Dil Se - Jyotis

प्रत्येक व्यक्ति का अपना एक अलग आभामंडल होता है। आभामंडल का अर्थ है हमारे शरीर के आसपास रहने वाली अदृश्य ऊर्जा। यही ऊर्जा समाज और घर-परिवार में हमारी अच्छी या बुरी छबि निर्मित करती है। जिस प्रकार इंसान का आभामंडल होता है, ठीक उसी प्रकार हमारे घर का भी आभामंडल होता है। यदि आपके घर का आभामंडल सकारात्मक और शुभ …

Read More »

सप्ताह के सात दिनों की प्रकृति और उनका स्वभाव

Indore Dil Se - Vastu

वैदिक ज्योतिष में सप्‍ताह के सात दिनों के अनुसार प्रकृति और स्‍वभाव के बारे में बताया गया है। सप्‍ताह के इन सात दिनों पर ग्रहों का अपना असर होता है। यदि मनुष्‍य इन सात दिनों की प्रकृति और स्‍वभाव के अनुसार कार्य करे तो उसके भाग्‍य में वृद्धि हेागी। सप्ताह के सात दिनों की प्रकृति और स्वभाव बताए गए हैं। …

Read More »

दिसंबर 2016

Indore Dil Se - Vastu

इस मास सूर्य 15 दिसम्बर को आय भाव में प्रवेश करेगे। मंगल 11 दिसम्बर को प्रथम भाव में संचरण करेंगे। बुध आय भाव में संचरण करेगा। वृहस्पति अष्टम भाव में संचरण करेंगे तथा शुक्र 02 दिसम्बर से व्यय भाव तथा 28 दिसम्बर से प्रथम भाव में संचरण करेंगे। शनि का संचरण वृश्चिक राशिगत रहेगा। राहु का सिंह राशि में तथा …

Read More »

घर की नींव रखने से पहले इन बातों का ध्यान रखें

Indore Dil Se - Vastu

भारतीय समाज में अनेक शास्त्र पाये जाते हैं. इनमे से एक शास्त्र है ‘वास्तु शास्त्र’ है, जिसका प्रयोग प्राचीन समय से ही किया जाता है. वास्तु शास्त्र का हमारे जीवन में बहुत महत्तव होता है. जिस प्रकार मनुष्य के शरीर में रोग के प्रविष्ट करने का मुख्य मार्ग मुख होता है उसी प्रकार किसी भी प्रकार के भवन निमार्ण में …

Read More »

वर्ष 2015 में 144 साल बाद सावन महीने में "सौभाग्य योग" बनेगा

हमारे हिंदू धर्म में सावन का महीना काफी पवित्र माना जाता है। इसे धर्म-कर्म का माह भी कहा जाता है। सावन महीने का धार्मिक महत्व काफी ज्यादा है। बारह महीनों में से सावन का महीना विशेष पहचान रखता है। इस दौरान व्रत, दान व पूजा-पाठ करना अति उत्तम माना जाता है व इससे कई गुणा फल भी प्राप्त होता है। …

Read More »

शनिचरी अमावस्या 18 अप्रेल को

शनि अमावस्या का दिन शनि भक्तों के लिए विशेष फलदायी माना जाता है। इस दिन शनि देव की कृपा अपने भक्तों पर बरसती है और शनि देव सभी को उनके कर्मों के अनुरूप न्याय प्रदान करते हैं। इस वर्ष 2015 में अप्रैल माह की 18 तारीख को शनि अमावस्या होगी। शनि देव उनकी आराधना करने वाले भक्तों को उनके पापों …

Read More »

चन्द्र ग्रहण का प्रभाव और महत्त्व

खग्रास चंद्रग्रहण — [ भारत में ग्रस्तोदय खण्डग्रास चन्द्र ग्रहण द्रश्य ] इस वर्ष हनुमान जयंती पर पूर्ण चन्द्रग्रहण का संयोग 4 अप्रेल 2015 को बन रहा हैं। अगले माह 4 अप्रेल 2015 को इस ग्रहण का स्पर्श भारत में कही भी द्रश्य नहीं होगा। यह ग्रहण भारत के साथ साथ चीन, ऑस्ट्रेलिया, उतरी व दक्षिणी अमेरिका के पूर्वी भाग …

Read More »

अप्रेल 2015

मेष राशि मेष राशि वाले जातकों के लिए यह माह सफलता वाला रहेगा।भक्ति में मन लगेगा। परिवर्तन की इच्छा प्रबल होगी। आलस्य बना रहेगा। माह के अंत में आकस्मिक लाभ होगा। परिजनों का सहयोग रहेगा।व्यापार अच्छा लाभ देगा, कृषि मध्यम फल देगी, नौकरी में उन्नति होगी। शत्रु पक्ष से विजय मिलेगी, स्वास्थ्य का ध्यान रखें, पारिवारिक क्लेश हो सकता है।महीने …

Read More »

क्या है गुड़ी पड़वा या हिन्दू नववर्ष ?

चैत्र मास की  शुक्ल प्रतिपदा को गुड़ी पड़वा या नववर्ष का आरम्भ माना गया है। ‘गुड़ी’ का अर्थ होता है विजय पताका। ऐसा माना गया है कि शालिवाहन नामक कुम्हार के पुत्र ने मिट्टी के सैनिकों का निर्माण किया और उनकी एक सेना बनाकर उस पर पानी छिड़ककर उनमें प्राण फूँक दिये। उसमें सेना की सहायता से शक्तिशाली  शत्रुओं को …

Read More »
Translate »